राहुल गांधी का मोदी सरकार पर हमला “किसानों का समर्थन करने वालों को डराने के लिए किया जा रहा केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग “

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार मोदी सरकार की नीतियों पर हमलावर रहते हैं। एकबार फिर राहुल ने केंद्र पर आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार किसानों के विरोध का समर्थन करने वालों को डराने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है।

ट्विटर पर तंज कसते हुए गांधी ने कहा कि मोदी सरकार केंद्रीय एजेंसियों को अपनी इशारों पर नाचने और अपनी नीतियों के खिलाफ बोलने वालों पर छापे मार रही है। उन्होंने तीन लोकप्रिय हिंदी मुहावरों- ‘उंगलियों पर नचाना, भीगी बिल्ली बनना और खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे’ को वर्तमान संदर्भ के साथ जोड़ा।

कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया, ‘उंगलियों पर नचाना- केंद्र सरकार IT Dept-ED-CBI के साथ ये करती है। भीगी बिल्ली बनना- केंद्र सरकार के सामने मित्र मीडिया। खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे- जैसे केंद्र सरकार किसान-समर्थकों पर रेड कराती है।’

राहुल गांधी की यह प्रतिक्रिया आयकर विभाग द्वारा मुंबई में फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप और अभिनेता तापसी पन्नू की संपत्तियों पर छापे के बाद आई है।

हालांकि अधिकारियों ने कहा है कि यह छापे फैंटम फिल्म्स पर टैक्‍स की जांच का हिस्सा थीं और मुंबई व पुणे में 30 स्थानों पर की गईं। उन्होंने कहा कि रिलायंस एंटरटेनमेंट समूह के सीईओ शिभाशीष सरकार और सेलिब्रिटी व प्रतिभा प्रबंधन कंपनियों KWAN व Exceed के कुछ अधिकारियों पर पते पर भी छापे मारे गए।

इस बीच, मुंबई में KWAN टैलेंट मैनेजमेंट एजेंसी के वाणिज्य केंद्र में आयकर विभाग की छापेमारी दूसरे दिन भी जारी रही।

Gyan Dairy

तापसी पन्नू और कश्यप दोनों ही केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार की नीतियों के मुखर आलोचक रहे हैं। उन्होंने तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को समर्थन भी दिया है।

बुधवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने भी छापेमारी को लेकर केंद्र को ‘राजनीतिक प्रतिशोध’ करार दिया था।

उन्‍होंने कहा था, “भाजपा राजनीतिक लाभ के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई), प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), और आईटी जैसे संस्थानों का दुरुपयोग करती है। यह एक राजनीतिक प्रतिशोध है। एक तानाशाह है, जो अपने खिलाफ आवाज नहीं सुनना चाहता है।”

 

Share