एक छात्रा की जिद के आगे झुका रेलवे, 500 KM चलाई राजधानी एक्सप्रेस

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने सिर्फ एक यात्री के लिए राजधानी एक्सप्रेस दौड़ा दी। वो भी 500 किलोमीटर। झारखंड में तीन दिन से टाना भगत आंदोलन कर रहे हैं, इस कारण कई ट्रेनें बीच रास्ते में ही फंसी है। रेलवे यात्रियों को बसों से उनकेे गंतव्य तक भेज रहा है। हालांकि डाल्टरगंज में फंसी एक छात्रा जिद पर अड़ गई कि वह बस से नहीं जाएगी। इसके बाद रेलवे ने उसके लिए राजधानी एक्सप्रेस चलवाई और उसे दूसरे रूट से घर भेजा।

दरअसल, बीएचयू में पढ़ने वाली एक छात्रा अपने घर आने के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय रेलवे स्टेशन से रांची के लिए नई दिल्ली-रांची स्पेशल राजधानी एक्सप्रेस में बैठी। ट्रेन टाना भगतों के रेलवे ट्रैक पर चल रहे आंदोलन के कारण डालटरगंज में ट्रेन रोक दी गई। कई घंटे बीत जाने के बाद भी जब आंदोलन नहीं खत्म हुआ तो रेलवे ने फैसला लिया कि वह यात्रियों को बस से भेजेगा। सभी यात्रियों के लिए बस मंगवाई गई और उन्हें रवाना किया गया।

लेकिन छात्रा ने बस से जाने से मना कर दिया। उसका कहना था कि जब उसने ट्रेन का टिकट लिया है तो वह बस से नहीं जाएगी। रेलवे अधिकारियों ने छात्रा काे काफी देर तक समझाया। इसके बाद भी जब वह नहीं मानी तो उसकी बात रेलवे मुख्यालय तक पहुंचाई गई। रेलवे अधिकारियों ने छात्रा को कार से रांची भेजने का प्रस्ताव रखा लेकिन वह तैयार नहीं हुई। वह जिद पर अड़ी रही कि राजधानी एक्सप्रेस से ही रांची जाएगी। काफी देर बाद तय हुआ कि छात्रा को राजधानी एक्सप्रेस से रांची भेजें।

Gyan Dairy

ट्रेन को डालटनगंज से सीधे रांची आना था। डालटनगंज से रांची की दूरी 308 किलोमीटर है। मगर, ट्रेन को गया से गोमो व बोकारो होकर रांची रवाना करना पड़ा। इस तरह ट्रेन को 535 किलोमीटर की दूरी तय करनी पड़ी। छात्रा की सुरक्षा के लिए आरपीएफ की कई महिला सिपाही तैनात की गई थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share