राजस्थान में 70 करोड़ रुपए की शराब पीकर मनाया नए साल का जश्न, जानें खास खबर

जयपुर। देश के कई राज्य अभी भी कोरोना की चपेट में है। देश में कोरेाना संक्रमण के मामले कम हुए है। लेकिन कई राज्य अभी भी खतरे के निशान पर है। कोरोना संकट के बीच बीते साल भर के त्योहारों और समारोहों पर बड़ा असर देखने को मिला था, कोरेाना के कारण सभी प्रकार के उत्सवो पर प्रतिबंध लगा दिया था। नए साल के जश्न को ध्यान में रखते हुए सरकार ने एक दिन पहले ही कई राज्यों में शाम के समय तमाम होटल, रेस्टोरेंट, फार्म हाउस पर पार्टियां करने पर रोक लगा दी थी। इसके बाद भी राज्य में 31 दिसंबर कि शाम को शराब की अच्छी बिक्री हुई। नए साल के जश्न के लिए लोंगो ने जमकर शराब खरीदी हैं।

31 को सभी प्रकार की रोक के बाद भी इतनी मात्रा में शराब बिकना तनावपूर्ण बात है। वो भी तब जब पूरे प्रदेश में तमाम शराब की दुकानें रात 8 बजे से पहले बंद करने का आदेश था। ऐसे में इतनी मात्रा में शराब मिकना सरकार को हैरत में डाल गया। पूरे राजस्थान में इस बार लगभग 70 करोड़ रुपए की शराब एक दिन में बिकी है। फिर भी शराब की खरीद में पिछले साल के मुकाबले 30 प्रतिशत की कमी आई है।
कोरोना काल और नाइट कर्फ्यू के कारण इस बार राजस्थान में देशी विदेशी पर्यटक नहीं आए। 2019 में 31 दिसंबर 2019 की रात तक पूरे प्रदेश में 1 अरब 4 करोड़ की शराब बिकी थी। वहीं उस साल आबकारी विभाग ने होटल, रेस्टोरेंट और क्लबों में पार्टियां में शराब परोसने के लिए अस्थाई लाइसेंस भी जारी किए थे, जिससे भी विभाग को आय हुई थी।

Gyan Dairy
Share