राजस्थान: पूर्व उपराष्ट्रपति भैरों सिंह शेखावत के बेटे ने नहीं खाली किया सरकारी बंगला, GAD ने थमाया 54 लाख का नोटिस

जयपुर। देश के पूर्व उपराष्ट्रपति और भाजपा के दिग्गज नेता रहे स्वर्गीय भैरों सिंह शेखावत के दत्तक पुत्र विक्रमादित्य सिंह शेखावत को राजस्थान सरकार ने 54 लाख रुपये का नोटिस भेजा है। गहलोत सरकार ने विक्रमादित्य को शहर के पॉश इलाके सिविल लाइंस में मिले सरकार बंगले को लेकर भेजा है। विक्रमादित्य सिंह बीजेपी विधायक नरपत सिंह रजवी और भैरों सिंह शेखावत की बेटी रतन कंवर के बेटे हैं। राजस्थान सरकार चाहती है कि विक्रमादित्य सिंह वह सरकारी बंगला खाली कर दें जो भैरों सिंह शेखावत को उपराष्ट्रपति रहते हुए मिला था।

विक्रमादित्य सिंह शेखावत को भेजे गए नोटिस में अतिरिक्त जिला न्यायाधीश ने 7 अक्टूबर 2019 को यह निर्देश दिया था कि वह 15 दिनों के अंदर बंगला खाली कर दें, जिसको विक्रमादित्य ने स्थानीय अदालत में चुनौती दी थी। विक्रमादित्य की अपील को 16 नवंबर 2019 को कोर्ट ने खारिज कर दिया था।

Gyan Dairy

अब जनरल ऐडमिनिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट (जीएडी) के नोटिस में विक्रमादित्य से बंगले के किराए के तौर पर 54 लाख 30 हजार रुपये जमा करवाने को कहा गया है। नरपत सिंह रजवी ने कहा है कि वे 54 लाख के नोटिस को कोर्ट में चुनौती देंगे। बता दें कि साल 2010 में भैंरो सिंह शेखावत की मृत्यु होने पर भारत सरकार की 18 जून, 2010 की अनुशंसा के आधार पर उनकी पत्नी सुरज कंवर को यह आवास पेंशन ऐक्ट के तहत दिया गया था। साल, 2014 में उनकी पत्नी का भी देहांत हो गया। इसके बाद उनके दत्तक पुत्र विक्रमादित्य सिंह उसमें रहते रहे।

Share