राजस्थानः वसुंधरा समर्थकों ने बनाया अलग संगठन, खुलकर सामने आई गुटबाजी

जयपुर। राजस्थान भाजपा में अब गुटबाजी की सियासत खुलकर सामने आने लगी है। पार्टी हाईकमान द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को नजरंदाज किए जाने से नाराज समर्थकों ने नया राजनीतिक मंच बना लिया है। इस मंच का नाम वसुंधरा राजे समर्थक राजस्थान मंच। वहीं टीम वसुंधरा के नाम से भी सोशल मीडिया में इसी मंच का एक अलग पेज बनाया गया है।

शुक्रवार को पार्टी अध्यक्ष जेपी नडृडा ने वसुंधरा को छोड़कर राजस्थान के अन्य बड़े नेताओं के साथ मीटिंग की। इसके बाद वसुंधरा समर्थकों ने खुलकर हर जिले में अपने जिलाध्यक्ष बनाना शुरू कर दिया है। इसके अलावा इस मंच के युवा संगठन और महिला संगठन भी तैयार किए जा रहे हैं। राजस्थान में पहली बार ऐसा हो रहा है कि पार्टी से अलग होकर किसी नेता के समर्थन में अलग संगठन तैयार किया जा रहा है।

वसुंधरा समर्थक मंच के प्रदेश अध्यक्ष विजय भारद्वाज ने कहा कि मैं 2003 में वसुंधरा राजे सिंधिया की वजह से जनता दल छोड़कर भाजपा में आया था। तब से भाजपा की राज्य कार्यकारिणी का सदस्य रहा हूं। भाजपा की आमंत्रित कार्यकारिणी का सदस्य रहा हूं। इसके अलावा विधि प्रकोष्ठ का भी अध्यक्ष रहा हूं और अब हम लोग वसुंधरा राजे को मजबूत करना चाह रहे हैं।

Gyan Dairy

राजस्थान भाजपा के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की। बाद में सोशल मीडिया पर प्रदेश कार्यकारिणी और जिला कार्यकारिणी की सूचियां वायरल होने लगीं। इस मामले में सतीश पूनिया ने बताया कि इस बात की जानकारी भाजपा के सभी नेताओं को है और जो लोग इस संगठन में काम कर रहे हैं वह लोग भाजपा में सक्रिय सदस्य नहीं हैं। भाजपा व्यक्ति आधारित पार्टी नहीं हैंए यह संगठन आधारित पार्टी है। पार्टी में ऐसी कोई परंपरा नहीं रही है कि समर्थक अपनी टीम घोषित कर दें। उन्होंने कहा कि वसुंधरा समर्थकों ने अपनी टीम बना ली है। इस मामले में केंद्रीय नेतृत्व को खबर है। राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि इसके जरिए वह वसुंधरा सरकार के कामकाज को जनता के बीच पहुंचा रहे हैं।

Share