राजस्थान: मैरिज हॉल में होता रहा इंतजार, नहीं पहुंची निलंबित एसडीएम पिंकी मीणा की बारात, जानें कैसे हुई शादी

जयपुर। राजस्थान में घूसखोरी के आरोप में जेल गईं निलंबित एसडीएम पिंकी मीणा ने न्यायालय से 10 दिन की जमानत मिलने के बाद बसंत पंचमी के मौके पर जज नरेंद्र कुमार से शादी रचा ली। हालांकि शादी वैसी नहीं हुई जैसी उम्मीद की जा रही थी। पिंकी मीणा के परिजनों ने बसंत पंचमी यानी 16 फरवरी को शादी के लिए मैरिज हॉल में जमक​र तैयारियां की थीं। काफी देर तक इंतजार करने के बाद भी बारात मैरिज हॉल नहीं पहुंची। बाद में पता चला कि दूल्हे के घर वाले सीधे पिंकी मीणा के घर पहुंच गए। वहीं पर सादे समारोह में उनकी शादी सम्पन्न हुई। माना जा रहा है कि मीडिया से बचने के लिए गुपचुप शादी रचाई गई है।

शादी के बाद 21 फरवरी को एसडीएम पिंकी मीणा को जेल में सरेंडर करना है। पिंकी मीणा को राजस्थान हाई कोर्ट ने शादी के लिए 10 दिन की जमानत दी थी। जेल से छूटने के बाद 11 फरवरी को पीले चावल की रस्म हुई थी और फिर 12 तारीख को बान सांकड़ी की रस्म अदा की गई। वहीं 14 फरवरी को लगन टीका हुआ था। बसंत पंचमी के मौके पर निलंबित एसडीएम पिंकी मीणा ने दौसा जिले में आयोजित शादी समारोह में जज नरेंद्र कुमार से विवाह कर लिया।

Gyan Dairy

शादी के 5 दिन बाद एक बार फिर से वह जेल की सलाखों के पीछे चली जाएंगी। हालांकि 22 फरवरी को उनकी जमानत पर फिर सुनवाई है। बता दें कि एसडीएम पिंकी मीणा को 15 जनवरी को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे को तैयार करने में जुटे एक कॉन्ट्रैक्टर से 10 लाख रुपये की घूस लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। एक शिकायत के आधार पर राजस्थान के एंटी-करप्शन ब्यूरो ने उनके खिलाफ एक्शन लिया था और उन्हें रंगे हाथों अरेस्ट किया गया था।

Share