राज्यसभा चुनाव: आठ राज्यों की 19 सीटों पर हुए मतदान की काउंटिंग शुरू

आठ राज्यों की 19 सीटों के लिए राज्सभा चुनाव शुक्रवार (19 जून) को संपन्न हो गए। शाम पांच बजे से ही मतों की गिनती का कार्य शुरू हो गया और जल्द ही नतीजे आने शुरू हो जाएंगे। बीते कुछ महीनों से अपने अंतर्विरोधों से जूझ रही कांग्रेस के विधायकों के लगातार साथ छोड़ने से कई राज्यों में उसकी स्थिति गड़बड़ा गई है। दोनों दलों में सबसे रोचक मुकाबला गुजरात, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, झारखंड व राजस्थान में होगा।

-मध्य प्रदेश में राज्यसभा की तीन सीटों के लिए हुए चुनाव में भाजपा के ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी तथा कांग्रेस के उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के जीतने की उम्मीद है।

– राज्यसभा सीटों पर हुए मतदान के बाद काउंटिंग शुरू हो चुकी है। कुछ देर में सभी आठ राज्यों की राज्यसभा सीटों पर नतीजे सामने आएंगे।

– गुजरात
गुजरात में चार सीट पर पांच उम्मीदवार मैदान में हैं। राज्यसभा के लिए कांग्रेस ने दो और भाजपा ने तीन उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं। पिछले दिनों पार्टी विधायकों के इस्तीफे के बाद पार्टी के पास सिर्फ 65 विधायक हैं। पार्टी को भारतीय ट्राइबल पार्टी, एनसीपी और जिग्नेश मेवाणी की वोट का भरोसा है। पर इनके समर्थन के बावजूद जीत के लिए एक वोट की जरुरत है। ऐसे में पार्टी चुनाव प्रबंधन पर पूरा जोर दे रही है। ताकि, 2017 के चुनाव की तरह जीत दर्ज कर सके। गुजरात विधानसभा में भाजपा विधायकों की संख्या 103 है। सभी तीन सीटों पर आराम से जीत के लिए उन्हें दो और वोट चाहिए। इसलिए बीटीपी के वोट भाजपा के लिए अहम हैं। वहीं, अगर ये दो वोट कांग्रेस को जाते हैं तो पार्टी दोनों सीटों पर जीत के थोड़ा सा करीब आ जाएगी, लेकिन दूसरी सीट पर जीत दर्ज करने के लिए उसे बहुमत नहीं मिल पाएगा। कांग्रेस को 70 वोटों की जरूरत है, जिनमें से 65 वोट उनके खुद के हैं और उन्हें निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवाणी का समर्थन हासिल है। भाजपा ने चार सीटों के लिए तीन उम्मीदवार उतारे हैं, वहीं कांग्रेस ने दो उम्मीदवारों को टिकट दिया है। भाजपा ने अभय भारद्वाज, रमीलाबेन बारा और नरहरि अमीन को उतारा है जबकि कांग्रेस की तरफ से शक्ति सिंह गोहिल और भरतसिंह सोलंकी मैदान में हैं।

Gyan Dairy

– मध्य प्रदेश
मध्य प्रदेश में राज्यसभा की रिक्त तीन सीटों के लिए भारतीय जनता पार्टी के ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं सुमेर सिंह सोलंकी तथा कांग्रेस के दिग्विजय सिंह एवं फूलसिंह बरैया उम्मीदवार हैं, जिनके बीच मुख्य मुकाबला है। विधानसभा में सदस्य संख्या के अनुसार भाजपा के पक्ष में दो और कांग्रेस के पक्ष में एक सीट जाना सुनिश्चित माना जा रहा है। राज्यसभा निवार्चन की प्रक्रिया मार्च माह में प्रारंभ हुई थी और उस समय नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया भी पूरी हो गई थी, लेकिन कोरोना के कारण चुनाव प्रकिया स्थगित कर दी गई थी। मौजूदा समय में विधानसभा के 206 सदस्यों में भाजपा के 107, कांग्रेस के 92, बसपा के 2, सपा के 1 तथा चार निर्दलीय हैं।

– झारखंड
झारखंड राज्यसभा की दो सीटों के लिए भाजपा प्रत्याशी दीपक प्रकाश, सत्ताधारी झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष शिबू सोरेन व कांग्रेस के शहजादा अनवर चुनाव मैदान में हैं। राज्य की दोनों सीटें निर्दलीय परिमल नाथवानी एवं राष्ट्रीय जनता दल के प्रेमचंद्र गुप्ता का कार्यकाल पूरा होने से रिक्त हुई है।

– राजस्थान
राजस्थान में कांग्रेस ने केसी वेणुगोपाल और नीरज डांगी को उम्मीदवार बनाया है। पार्टी के पास 107 विधायक हैं, इसके साथ पार्टी को 12 निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन हासिल है। राज्यसभा की एक सीट के लिए 51 प्रथम वरीयता विधायकों की जरुरत है। ऐसे में इस आंकड़े के साथ पार्टी के लिए दोनों सीट जीतना मुश्किल नहीं है। पर पार्टी को डर है कि कांग्रेस विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की और निर्दलीय विधायकों ने पाला बदल लिया, तो मुश्किलें बढ़ सकती है। मणिपुर, मिजोरम और मेघालय की एक-एक सीटों पर भी चुनाव के नतीजे आने हैं।

Share