blog

आरबीआई ने दी बड़ी राहत: ईएमआई भुगतान के लिए 31 अगस्त तक छूट, रेपो रेट में भी हुई कटौती

आरबीआई ने दी बड़ी राहत: ईएमआई भुगतान के लिए 31 अगस्त तक छूट, रेपो रेट में भी हुई कटौती
Spread the love

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के चलते लॉकडाउन ने देश की अर्थव्यवस्था को हिला दिया है। लोगों को राहत देने के लिए केन्द्र सरकार ने 20 लाख करोड़ रुपए के राहत पैकेज का ऐलान किया है। इसके बाद अब रिजर्व बैंक आफ इंडिया ने देशवासियों को बड़ी राहत दी है। आरबीआई ने होम लोन, पर्सनल लोन, वाहन कर्ज की ईएमआई चुका रहे लोगों को राहत दी है। अब लोग जून, जुलाई और अगस्त की अपनी ईएमआई इच्छानुसार होल्ड कर सकते हैं।

आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि लॉकडाउन बढ़ने से मोरोटॉरियम और दूसरी राहते तीन महीने तक और बढ़ाई जा रही हैं। अब ईएमआई देने पर राहत 1 जून से 31 अगस्त तक के लिए बढ़ाई जा रही है। यानी अगर आप अगले 3 महीने तक अपने लोन की ईएमआई नहीं देते हैं तो बैंक दबाव नहीं डालेगा।
दरअसल आरबीआई को यह निर्णय इसलिए करना पड़ा कि लॉकडाउन के जारी रहने से लोगों की आय का फ्लो ​फिर से सुचारू नहीं हो पाया है।

लोग ईएमआई मॉरेटोरियम की मौजूदा 31 मई तक की अवधि के खत्म होने के बाद मौजूदा परिस्थिति में अपना कर्ज चुकाने में सक्षम नहीं होंगे। इसलिए मॉरेटोरियम को और तीन माह तक बढ़ाना पड़ा। यह कर्ज लेने वालों और बैंकों दोनों के लिए इस मुश्किल वक्त में मददगार रहेगा। टर्म लोन लोगों के घर खरीदने, कार खरीदने या दूसरी जरूरतों को पूरा करता है। ऐसे लोग इन जरूरतों को पूरा करने लिए बैंकों से कर्ज लेते हैं। छोटी फर्मों को भी अपना कारोबार बढ़ाने के लिए अक्‍सर कर्ज की जरूरत पड़ती है।अपनी जरूरत के हिसाब से इसे छोटी या लंबी अवधि के लिए कोई ले सकता है।

मोराटोरियम उस अवधि को कहते हैं जिस दौरान आपको लिए गए कर्ज पर ईएमआई का भुगतान नहीं करना पड़ता है। इस अवधि को ईएमआई हॉलीडे के रूप में भी जाना जाता है। आमतौर पर ऐसे ब्रेक की पेशकश इसलिए की जाती है ताकि अस्थायी वित्तीय कठिनाइयों का सामना करने वाले व्यक्तियों को इससे उबरने में मदद मिले।

भारतीय रिजर्व बैंक ने 27 मार्च को बैंकों व वित्तीय संस्थानों को 1 मार्च 2020 तक बकाया सभी टर्म लोन्स लेने वालों को ईएमआई के भुगतान पर 3 माह का मोरेटोरियम उपलब्ध कराने को कहा था। इसके साथ ही अब इन तरह के सभी ऋणों की अदायगी को तीन महीने के लिए आगे बढ़ा दिया गया था। ऋण स्थगन के तहत लोगों से कर्ज के लिए उनके खातों से ईएमआई नहीं ली गई। रिजर्व बैंक की ताजा घोषणा के बाद 31 अगस्त को ऋण स्थगन की अवधि खत्म होने के बाद ही ईएमआई भुगतान शुरू होगा।

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *