प्रख्यात भजन गायक नरेंद्र चंचल नहीं रहे, अपोलो अस्पताल में ली आखिरी सांस

नई दिल्ली। प्रख्यात भजन गायक नरेंद्र चंचल (80 वर्ष) अब हमारे बीच नहीं रहे। “चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है” भजन से आम जनमानस के बीच भजन सम्राट की छवि बनाने वाले नरेन्द्र चंचल का शुक्रवार की दोपहर निधन हो गया है। दिल्ली के अपोलो अस्पताल में दोपहर करीब साढ़े 12 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

अपोलो अस्पताल प्रशासन ने मीडिया को बताया कि शुक्रवार दोपहर करीब 12ण्30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। चिकित्सकों ने बताया कि नरेंद्र चंचल के ब्रेन में क्लोटिंग हो गई थी। भजन गायक नरेंद्र चंचल अपने पीछे दो बेटे और एक बेटी छोड़ गए हैं। नरेन्द्र चंचल ने कई प्रसिद्ध भजनों के साथ हिंदी फिल्मों में भी गाने गाए हैं। उन्होंने न सिर्फ शास्त्रीय संगीत में अपना नाम कमाया बल्कि लोक संगीत में भी लोगों की दिल जीता।

Gyan Dairy

नरेंद्र चंचल ने बचपन से ही अपनी मां कैलाशवती को मातारानी के भजन गाते हुए सुना। इसी वजह से उनकी रुचि भी गायकी में बढ़ी। उनके शरारती स्वभाव और चंचलता की वजह से उनके शिक्षक उन्हें ‘चंचल’ कहकर बुलाते थे। बाद में नरेंद्र ने अपने नाम के साथ हमेशा के लिए ‘चंचल’ जोड़ लिया। नरेंद्र को पहचान मिली फिल्म ‘आशा’ में गाए भजन ‘चलो बुलावा आया है’ से जिसने रातों रात उन्हें मशहूर बना दिया। पूरे उत्तर भारत में उनका बड़ा नाम था।

Share