सेबी ने फ्यूचर ग्रुप के CEO किशोर बियानी पर लगाया एक साल का प्रतिबंध, जानें वजह

नई दिल्ली। भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने बुधवार को बड़ा फैसला लेते हुए फ्यूचर ग्रुप के सीईओ किशोर बियानी पर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया है। बाजार नियामक सेबी ने फ्यूचर ग्रुप के सीईओ किशोर बियानी पर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया। प्रतिबंध लगने के बाद किशोर बियानी फ्यूचर रिटेल की प्रतिभूतियों की खरीद और बिक्री नहीं कर पाएंगे।

अमेरिका की दिग्गज कंपनी अमेजॉन के साथ विवाद में फंसे फ्यूचर ग्रुप के सीईओ किशोर बियाणी और उनके भाई अनिल बियाणी पर मार्केट रेग्युलेटर सेबी (SEBI) ने एक साल के लिए सिक्योरिटीज मार्केट एक्सेसिंग से प्रतिबंधित कर दिया है। सेबी ने फ्यूचर ग्रुप की रीटेल कंपनी फ्यूचर रीटेल के शेयरों में इनसाइर ट्रेडिंग (भेदिया कारोबार) जांच के बाद बियाणी और उनके भाई पर प्रतिबंध लगाया है।

Gyan Dairy

सेबी ने अपनी जांच में पाया है कि किशोर और अनिल फ्यूचर रीटेल के कुछ बिजनस के डिमर्जर से पहले अनपब्लिश्ड प्राइस सेंसिटिव इनफॉरमेशन के आधार पर एक ग्रुप कंपनी के जरिए फ्यूचर रीटेल के शेयरों की खरीद फरोख्त की। इससे कंपनी के शेयरों की कीमतों में ​काफी तेजी आई। इस बारे में फ्यूचर के प्रवक्ता और बियाणी बंधुओं ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

Share