सुप्रीम कोर्ट ने कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी को दी राहत, जानें पूरा मामला

नई दिल्ली। काफी दिनों से जेल में बंद कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने कॉमेडियन मुनव्वर फारूकी की अंतरिम जमानत अंतरिम जमानत मंजूर कर ली है। मुनव्वर फारूकी ने मध्य प्रदेश हाईकोर्ट जमानत देने से इंकार करने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।

सुप्रीम कोर्ट के न्यायमूर्ति आर एफ नरीमन और न्यायमूर्ति बी आर गवई की पीठ के समक्ष मुनव्वर फारूकी की याचिका पर सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश पुलिस को भी नोटिस जारी किया है। हाईकोर्ट ने 28 जनवरी को फारूखी को जमानत देने से इनकार करते हुए कहा कि समाज सौहार्द्र को बढ़ावा देने उनका संवैधानिक कर्तव्य है।

मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ ने अपने फैसले में कहा था कि मामले में जांच जारी है। लिहाजा अभी गुण-दोष के आधार पर फिलहाल निष्कर्ष नहीं निकाला जा सकता है। प्रथम दृष्टया दोनों आवेदकों के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप सही दिखाई देते हैं। ऐसी परिस्थिति में आवेदकों को जमानत नहीं दी जा सकती हैं।

Gyan Dairy

इस फैसले में न्यायालय ने टिप्पणी करते हुए कहा था कि हमारा देश बेहद खूबसूरत है, विविध संस्कृति, भाषा, धार्मिक मान्यताए और भौगोलिक विविधता का सुंदर ताना बाना है। हमारा संविधान जहां हम नागरिकों को कई अधिकार देता है, वहीं हम नागरिकों के कई संवैधानिक दायित्व भी हैं। प्रदत्त अधिकारों और कर्तव्यों के बीच संतुलन रख हम इस विविधता को संरक्षित रखें, किसी की भावनाओं को आहत नहीं करें।

दरअसल, भाजपा विधायक के बेटे की शिकायत पर फारूकी और अन्य को एक जनवरी को गिरफ्तार किया गया था। विधायक के बेटे ने शिकायत दर्ज कराई थी कि फारूकी ने नववर्ष पर इंदौर में एक कैफे में कॉमेडी शो के दौरान हिंदू देवी-देवताओं और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी

Share