सुप्रीम कोर्ट ने IPS परमबीर सिंह को लगाई फटकार, कहा – 30 साल सेवा के बाद भी पुलिस पर भरोसा नहीं

नई दिल्ली। मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका मिला है। दरअसल, परमबीर सिंह ने अपने खिलाफ जांच से जुड़े मामलों को महाराष्ट्र के बाहर किसी स्वतंत्र एजेंसी के पास भेजने की मांग की थी। सुप्रीम कोर्ट ने उनकी याचिका पर सुनवाई करने से इंकार करते हुए कहा कि आप खुद पुलिस में हैं और आपको राज्य की पुलिस पर ही भरोसा नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने आगे कहा कि जिनके घर शीशे के होते हैं, वे दूसरों पर पत्थर नहीं उछालते।

परमबीर सिंह की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कहा कि बहुत आश्चर्य की बात है कि 30 साल से ज्यादा सेवा के बाद मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर कह रहे हैं कि उन्हें राज्य पुलिस पर भरोसा नहीं है। जब सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वह याचिका खारिज करेगा तो परमबीर सिंह के अधिवक्ता ने कहा कि हम याचिका वापस लेंगे।

Gyan Dairy

बता दें कि परमबीर सिंह 1988 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। उन्हें 17 मार्च को मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटाकर महाराष्ट्र राज्य होम गार्ड का जनरल कमांडर नियुक्त किया गया। इस फेर-बदल के बाद उन्होंनें राज्य के गृहमंत्री और राकांपा के वरिष्ठ नेता अनिल देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप लगाये। परमबीर सिंह की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता महेश जेठमलानी ने कहा कि याचिका दायर करने वाले के खिलाफ एक के बाद एक मुकदमे सिर्फ इसलिए दायर नहीं किए जा सकते क्योंकि वह व्हिसीलब्लोवर है।

Share