किसान आंदोलन पर SC का बड़ा फैसला, नए कृषि कानूनों पर अगले आदेश तक रोक, बनाई कमेटी

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन चल रहा है। किसान नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े हुए हैं। वहीं, सुप्रीम कोर्ट आज लगातार इस मामले पर दूसरे दिन सुनवाई किया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर बड़ा फैसला सुनाया है। कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों के अमल पर रोक लगा दी है।

चीफ जस्टिस की अगुवाई वाली बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कानूनों पर रोक लगाई, साथ ही एक कमेटी का गठन कर दिया है। इस कमिटी में कृषि विज्ञानी अशोक गुलाटी, हरसिमरत भी सदस्य होंगे। केंद्र सरकार ने जिन तीन कृषि कानूनों को पास किया, उसका लंबे वक्त से विरोध हो रहा था।

दिल्ली की सीमाओं पर हजारों की संख्या में किसान आंदोलन कर रहे हैं, इसी के बाद मामला सुप्रीम कोर्ट के पास जा पहुंचा। बता दें कि, सुप्रीम कोर्ट ने कल ही स्पष्ट संदेश दे दिया था कि वह इस मसले को कमेटी के पास भेजेगी। आज जब कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई तो किसानों ने कमेटी के पास जाने से मना कर दिया, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई और कहा कि दुनिया की कोई ताकत उसे कमेटी बनाने से नहीं रोक सकती।

गौरतलब है कि बीते दिन की सुनवाई में केंद्र सरकार की ओर से अदालत में कृषि कानूनों के अमलीकरण पर रोक लगाने पर आपत्ति जताई गई थी। साथ ही केंद्र ने कहा था कि ऐसा करना ठीक नहीं होगा, अभी सरकार-किसानों में बातचीत हो रही है। हालांकि, अदालत ने साफ किया था कि लंबे वक्त से कोई नतीजा नहीं निकला है, सरकार का रुख सही नहीं है।

Gyan Dairy

 

 

 

Share