देवबंद में हजारों मुस्लिम महिलाओं का तारिक फतह के खिलाफ प्रदर्शन

सहारनपुर में देवबंद क्षेत्र के मोहल्ला अबुलबराकात में स्थित मअहद आयशा सिद्दीक़ा कासिमुल उलूम लिलबनात देवबंद से इकठ्ठा होकर हजारों मुस्लिम महिलाओं ने हाथों में तारेक फतह को फांसी दो लिखी हुई तख्तियाँ लेकर जुलूस निकाला. इन महिलाओं ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के नाम तहसीलदार को एक ज्ञापन भी सौंपा.

महिलाओं का यह जुलूस दारुल उलूम चौक से होते हुए रशीदीया, मस्जिद खानकाह पुलिस चौकी पर समाप्त हुआ. इस दौरान सुरक्षा के मद्देनजर जुलूस मार्गों पर जगह जगह बड़ी संख्या में पुलिस बल के साथ थाना प्रभारी चमन सिंह चावड़ा और खुफिया विभाग के अधिकारी मौजूद रहे.
महिलाओं का प्रतिनिधित्व कर रहीं मअहद आयशा सिद्दीक़ा कासिमुल उलूम लिलबनात देवबंद की प्रिंसिपल इफ्फत नदीम ने कहा कि उनका यह विरोध शैतान तारेक फतह के खिलाफ है, जो पाकिस्तान का भगोड़ा है और एक समाचार चैनल पर बैठकर मुसलसल मुसलमानों और इस्लाम के खिलाफ बयानबाजी कर रहा है. हमारी मांग है कि हमारे देश भारत से तारेक फतह को निर्वासित किया जाए. उन्होंने फतह की वीजा रद्द करने की मांग की. साथ ही साथ कहा कि उनको कभी देश में न आने दिया जाए, क्योंकि वह देश में हिंदू-मुस्लिम दंगे कराना चाहता है. एक दूसरी महिला शबा एजाज ने कहा कि फतह हमारे देश में नफरत फैला रहा है. हमारी व्यवस्था में हस्तक्षेप कर रहा है. और नबी सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की शान में गुस्ताखी कर रहा है. तारेक फतह जैसा इंसान हमें हमारे इस गंगा जमुनी तहज़ीब वाले देश में बिल्कुल पसंद नहीं है.
जुलूस में शामिल एक बुजुर्ग महिला ने कहा कि हम इस्लाम पर अपनी जान लुटा देंगे. इस्लाम हमारा धर्म और हमारी पहचान है.

Gyan Dairy
Share