तेलंगानाः CM के चंद्रशेखर राव के तीन रिश्तेदारों का अहपरण, पुलिस ने ऐसे कराया मुक्त

हैदराबाद। तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चन्द्रशेखर राव के के तीन रिश्तेदारों को प्रापर्टी विवाद में अगवा कर लिया। सीएम के रिश्तेदारों के अपहरण का सननसीखेज मामला हैदराबाद पुलिस ने 24 घंटे के अंदर सुलझा लिया है। बताया जा रहा है कि तीनों रिश्तेदारों को रात में हैदराबाद स्थित उनके घर से अगवा किया था। माना जा रहा था कि आंध्र प्रदेश के कुरनूल से टीडीपी के पूर्व मंत्री के रिश्तेदार ने इस वारदात को अंजाम दिया है।

तेलंगाना मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के सगे रिश्तेदार प्रवीण राव और उनके भाई सुनील राव और नवीन राव को मंगलवार की रात बोइनपल्ली इलाके से अगवा कर लिया गया था। परिजनों ने इस वारदात के पीछ आंध्र प्रदेश के पर्यटन मंत्री रह चुकीं भूमा अखिल प्रिया और उनके पति का हाथ होने का संदेह जताया था।

Gyan Dairy

पुलिस ने बताया कि कुछ अज्ञात लोग पीड़ितों के घर में आयकर अफसर बताकर घुसे। परिवार के दूसरे सदस्यों को कमरों में बंद करने के बाद संदिग्धों ने तीनों को अगवा किया और उन्हें जबरन गाड़ी में बैठाकर मोइनाबाद ले गए। इस दौरान तीनों को डराया गया और कुछ प्रॉपर्टी के कागजात पर हस्ताक्षर करने का दबाव बनाया गया। बुधवार तड़के पुलिस ने अगवा किए गए तीनों लोगों को बचा लिया और सुरक्षित घर पहुंचाया। पुलिस ने अब तक इस मामले में 10 लोगों को हिरासत में लिया है और अपहरण में इस्तेमाल किए वाहनों को भी जब्त कर लिया है। पुलिस का कहना है कि इस अपहरण के पीछे हफीजपेट इलाके में स्थित एक संपत्ति को लेकर विवाद है। पुलिस ने यह भी बताया है कि विवाद जिस संपत्ति को लेकर है वह मियापुर भूमि घोटाला का भी हिस्सा है।

Share