बिहार: मुंगेर गोलीकांड पर सख्त हुआ निर्वाचन आयोग, DM और SP नपे

नई दिल्ली। बिहार के मुंगेर में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन को लेकर हुए बवाल को लेकर गुरुवार को हुए उग्र प्रदर्शन के बाद बिहार निर्वाचन आयोग ने डीएम राजेश मीणा और एसपी लिपि सिंह को तत्काल ​हटा दिया है। मगध प्रमंडल के कमिश्‍नर को पूरे मामले की जांच सौंपी गई है। डीआईजी मनु महाराज ने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देश पर दोषी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध भी कार्रवाई की जाएगी। गोली कांड मामले की जांच भागलपुर और गया के उच्च स्तरीय अधिकारी करेंगे।

प्रतिमा विसर्जन के दौरान युवकों पर लाठीचार्ज और गोली कांड में युवक की मौत के विरोध में गुरुवार को शहर भर के बाजार बंद रहे। इस दौरान हुए उग्र प्रदर्शन में कई सरकारी गाडि़यों को आग के हवाले कर दिया गया था। चैंबर ऑफ कॉमर्स के सदस्य सुबह से ही बाजार में दुकानों को बंद रखने की अपील की। इस दौरान घटना के विरोध में शहर में प्रदर्शन किया गया।

शहरवासी एसपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। प्रदर्शन में शामिल आक्रोशित युवकों ने एसपी कार्यालय के समीप पहुंचकर एसपी के खिलाफ नारेबाजी की और वहां पथराव कर दिया। आक्रोशित युवकों के जत्थे ने एसडीओ के गोपनीय शाखा कार्यालय में भी तोड़फोड़ की। घटना के दौरान माहौल तनावपूर्ण बन गया है। आक्रोशित युवकों के जत्थे ने शहर के पूरब सराय फांरी में लगी दो पुलिस जीप को आग के हवाले कर दिया।

Gyan Dairy

आपको बता दें कि बिहार के मुंगेर जिले में सोमवार की आधी रात दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के दौरान पुलिस और सुरक्षाबलों के बीच झड़प में एक युवक की मौत और छह से ज्यादा लोग घायल हो गए थे। शादीपुर में बड़ी दुर्गा के विसर्जन के दौरान पुलिस ने युवकों पर बल प्रयोग किया। इससे भीड़ उग्र हो गई और पुलिस और लोगों में भिड़ंत हो गई। बचाव करते हुए पुलिस ने फायरिंग की जिसमें एक युवक की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी। गोली लगने से कई लोग घायल हो गए थे। जिनका इलाज सदर अस्पताल में किया जा रहा है।

Share