शादी के कार्ड पर छपवाया किसानों का संदेश, आंदोलन के समर्थन में ट्रैक्टर से दूल्हन लाएगा दूल्हा

नई दिल्ली। देश के किसान बीते दोह से अधिक समय से तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बार्डर पर धरना दे रहे हैं। देश के हर वर्ग से किसानों को समर्थन भी मिल रहा है। अब यूपी के अमरोहा जिले में किसान के बेटे की छह फरवरी को होने वाली शादी में दूल्हा हरमेंद्र ट्रैक्टर से बारात लेकर दुल्हन को विदा कराने जाएगा। दूल्हे ने शादी के कार्ड पर भी ट्रैक्टर की फोटो छपवाकर किसान आंदोलन के समर्थन में संदेश लिखा है। बताया जा रहा है किकिसान नहीं तो भोजन नहीं। बारात स्थल भी किसान आंदोलन के समर्थन के बैनर व पोस्टर से सजा होगा।

अमरोहा के मंडी धनौरा के खादर के गांव शाहजहांपुर में रहने वाले किसान सरदार प्यारे सिंह ने अपने पुत्र हरमेंद्र सिंह की शादी बछरायूं थाना क्षेत्र के गांव ढयोटी निवासी स्व.पवन देवल की पुत्री प्रियांशी के साथ तय की है। कृषि आंदोलन को समर्थन देती हुई यह शादी छह फरवरी को संपन्न होगी। दूल्हा हरमेंद्र आलीशान कार की बजाए ट्रैक्टर पर सवार होकर दुल्हन को ब्याहने जाएगा। वहीं दुल्हन पक्ष की ओर से भी बारात स्थल को किसान आंदोलन के समर्थन के बैनर पोस्टर से सजाया जाएगा।

Gyan Dairy

प्यार्रे सिंह ने बेटे की शादी के कार्ड पर ट्रैक्टर का तस्वीर छपवाई है और साथ ही किसान आंदोलन के समर्थन में नो फार्मर्स नो फूड का संदेश लिखा है।   दूल्हे के भाई कश्मीर सिंह ने बताया कि वह किसान परिवार से हैं। इसलिए परिवार के साथ कृषि आंदोलन को समर्थन देने के लिए ट्रैक्टर पर बारात ले जाना तय किया। दुल्हन पक्ष ने भी इसमें उनका साथ देने का वादा किया है।

Share