ट्रैक्टर परेड के बहाने उपद्रवियों ने लाल किले की ‘अस्मत लूटी’, देखें तस्वीरें

नई दिल्ली। लाल किले की जिस प्राचीर से गणतंत्र दिवस की सुबह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को संबोधित किया था। उसी प्राचीर को उपद्रवियों ने ध्वस्त कर दिया। गणतंत्र दिवस के अवसर पर ट्रैक्टर परेड में किसानों के वेष में शामिल उपद्रवियों ने लाल किले पर न सिर्फ निशान साहिब फहराया बल्कि भारतीय अस्मिता के प्रतीक इमारत में जमकर तोड़फोड़ भी की। उपद्रवियों ने लाल किले की दीवारों से लेकर गाड़ियों और कुर्सियों तक को तोड़ दिया है।

जानकारी के मुताबिक सिंघु और टिकरी बॉर्डर से दिल्ली में दाखिल हुए प्रदर्शनकारियों ने मंगलवार दोपहर में लाल किले पर जमकर हंगामा काटा। उपद्रवियों ने टिकट काउंटर को तोड़ा, एंट्री गेट पर तोड़फोड़ की और वहां पर लगीं मेटल डिटेक्टर मशीनों को भी जमकर नुकसान पहुंचाया। हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारियों ने लाल किले को अपने कब्जे में ले लिया था। प्रदर्शनकारियों की भीड़ लालकिले की प्राचीर पर चढ़ गई और निशान साहिब का झंडा फहराया। इसके बाद सामने जो दिखा वो तोड़ते चले गए। उपद्रवियों ने लाल किले के गुंबदों को भी नुकसान पहुंचाया है।

Gyan Dairy

लाल किले पर प्रदर्शनकारियों के तांडव की तस्वीरें काफी भयावह हैं। गाड़ियों के परखच्चे उड़ गए हैं, टिकट काउंटर टूट चुके हैं। चारों आरे बिखरे कांच और कागज के टुकड़े चीख चीख कर राष्ट्रीय धरोहर के चीर हरण की गवाही दे रहे हैं। काफी देर तक उत्पात मचाने के बाद पुलिस बलपूर्वक प्रदर्शनकारियों को हटाने में वहां से कामयाब रही। लाल किले पर हुए कल के तांडव को देखते हुए केंद्रीय पर्यटन मंत्री प्रहलाद पटेल आज वहां स्थिति का जायजा लेने पहुंचे हैं। आज लाल किले पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और अधिक जवानों को तैनात कर दिया गया है।

Share