फिर खारिज हुई डेरा प्रमुख राम रहीम की पैरोल अर्जी, हरियाणा सरकार ने नहीं मानी मां की दलील

नई दिल्ली। साध्वी से दुष्कर्म के दोषी सुनारिया जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की पैरोल एक बार फिर खारिज हो गई। बताया जा रहा है कि इस बार डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की मां नसीब कौर ने पैरोल के लिए आवेदन किया था। नसीब कौर ने अपनी बढ़ती उम्र और बीमारी का हवाला देते हुए डेरा प्रमुख को पैरोल देने की मांग की थी। सुनारिया जेल प्रशासन ने पैरोल की अर्जी सरकार को भेज दी थी।

सरकार ने शुक्रवार को जेल प्रशासन की ओर से आए राम रहीम की मां के आवेदन को खारिज कर दिया है। ऐसे में अब साध्वी यौन शोषण मामले में सजा काट रहे राम रहीम को रोहतक की सुनारिया जेल में ही रहना होगा। सरकार के फैसले से डेरा प्रमुख का सपना फिर टूट गया है, क्योंकि इससे पहले भी वह जेल से बाहर आने के लिए कई बार पैरोल की मांग कर चुका है।

Gyan Dairy

बता दें कि राम रहीम तीन सप्ताह की पैरोल चाहता था। उसकी मां नसीब कौर ने अपनी बीमारी का हवाला देते हुए पैरोल के लिए एक सप्ताह पहले आवेदन किया था। लेकिन सरकार डेरा प्रमुख को पैरोल देकर कानून व्यवस्था के मद्देनजर कोई मुसीबत मोल नहीं लेना चाहती। वर्तमान में कोरोना संकट के चलते राम रहीम को पैरोल देना और भी बड़ी मुसीबत बन सकता है। सरकार ने सुरक्षा एजेंसियों के इनपुट व अन्य पहलुओं को देखते हुए डेरा प्रमुख की पैरोल की अर्जी खारिज कर दी है।

Share