blog

भारत-चीन सैनिकों के पीछे हिंसा की थी यह वजह, पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने बताया मामला

भारत-चीन सैनिकों के पीछे हिंसा की थी यह वजह, पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने बताया मामला
Spread the love

जम्मू। पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के पीछे क्या वहज थी इसको लेकर पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने एक टीवी चैनल में बातचीत के दौरान कहा कि चीनी सैनिकों ने टेंट में आग लगा दी थी, जिसके बाद से विवाद बढ़ा। विवाद हिंसा का रूप ले ली।

केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह ने कहा कि, भारत और चीन के बीच जो बातचीत हुई थी, उसमें फैसला हुआ था कि सीमा के पास दोनों देशों के सैनिक वापस जाएंगे और कोई भी वहां मौजूद नहीं रहेगा। लेकिन 15 जून को भारतीय सेना के कमांडिंग अफसर और सैनिक वहां पहुंचे तो देखा कि चीनी सैनिक वहां पर मौजूद हैं।

इस दौरान वहां पर टेंट लगा देख विवाद बढ़ने लगा। वीके सिंह ने कहा कि चीनी सैनिक तंबू हटाने लगे तो उसमें आग लग गई। हालांकि, यह नहीं पता चल सका कि उस तंबू में क्या रखा हुआ था। इसी को लेकर दोनों देशों के सैनिकों के बीच हिंसक टकराव हो गया। बता दें कि, गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हुए हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। वहीं चीन के 43 सैनिक मारे जाने की खबर थी।

 

You might also like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *