इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले पर सुप्रीम रोक, शीर्ष अदालत ने कहा- कोरोना से मौत का डर नहीं हो सकता अग्रिम जमानत का आधार

नई दिल्ली। कोरोना संकट के दौर में आरोपी को जेल भेजने पर संक्रमण की स्थिति में उसकी जान जा सकती है। महज इस डर से आरोपी को अग्रिम जमानत नहीं दी जा सकती है। सुप्रीम कोर्ट ने यह आदेश उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इलाहाबाद हाईकोर्ट के एक फैसले के खिलाफ दायर याचिका पर दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने साफ कहा कि अग्रिम जमानत पर फैसला केस की मेरिट के आधार पर किया जाना चाहिए। कोरोना संक्रमण होने से मौत के डर के चलते ऐसा नहीं किया जा सकता। दरअसल इलाहाबाद हाई कोर्ट ने बीते सप्ताह अपने एक आदेश में कहा था कि जेलों में कैदियों की अधिक संख्या होने और केसों में इजाफे के चलते अग्रिम जमानत दी जा सकती है। उच्च न्यायालय के इस फैसले के खिलाफ यूपी सरकार ने अर्जी दाखिल की थी।

Gyan Dairy

 

Share