कल महाराष्ट्र के समुद्र तट से टकराएगा निसर्ग तूफान, अलर्ट जारी

नई दिल्ली । भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने मंगलवार को कहा कि निसर्ग तूफान महाराष्ट्र तट से बुधवार दोपहर को गुजरेगा। उत्तर महाराष्ट्र दक्षिण गुजरात तटों के लिए चेतावनी जारी कर दी गई है। यह अगले 12 से 24 घंटे में खतरनाक रूप ले सकता है। भारतीय मौसम विभाग ने अरब सागर में बन रहे दबाव के क्षेत्र को लेकर चेतावनी जारी की। मौसम विभाग ने बताया कि यह तूफान अगले 12 घंटों में तूफानी चक्रवात और उसके अगले 12 घंटों में भयंकर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है।

मौसम विभाग के अनुसार पूर्वी-मध्य अरब सागर में बन रहा दबाव पिछले 6 घंटे में 11 किलोमिटर प्रतिघंटे से उत्तर की ओर आगे बढ़ा। इसके अगले 6 घंटे के दौरान लगभग उत्तर की ओर बढ़ने की संभावना है। यह अभी मध्य पणजी (गोवा) से 280 किमी पश्चिम-दक्षिण पश्चिम , मुंबई (महाराष्ट्र) से 490 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और सूरत (गुजरात) से 710 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में केंद्रित है।

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) के महानिदेशक एसएन प्रधान ने कहा कि गंभीर चक्रवात के मद्देनज़र महाराष्ट्र में राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की टीमें तैनात कर दी गई है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार एनडीआरएफ की टीमें पालघर में सर्वेक्षण करती हुई दिखी।

Gyan Dairy

निसर्ग तूफान से मुंबई समेत महाराष्ट्र के तटवर्ती जिले सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी, ठाणे, रायगढ़ और पालघर सबसे ज्यादा प्रभावित हो सकते हैं। भारी बारिश के कारण इन इलाकों में पानी भरने की संभावना है। तेज हवा के कारण पेड़, टेलीफोन लाइन, बिजली के खंभों को भी नुकसान होने की आशंका है। मौसम विभाग ने मछुआरों को अगले 48 घंटों के दौरान दक्षिण-पूर्व अरब सागर, लक्षद्वीप क्षेत्र और केरल तट की ओर न जाने की सलाह दी है।

बता दें कि गृह मंत्रालय ने सोमवार को जानकारी दी थी कि हालात से निपटने के लिए महाराष्ट्र, गुजरात, दमन एवं दीव और दादर व नगर हवेली में एनडीआरएफ की 23 टीमें तैनात की गई हैं। इनमें से 11 टीमें गुजरात में, 10 टीमें महाराष्ट्र में और दो टीमें दमन एवं दीव और दादर व नगर हवेली में तैनात हैं।

Share