केन्द्रीय मंत्री जॉन बारला बोले- बंगाल का विभाजन जरूरी, ये जनता की आवाज है

कोलकाता। मोदी सरकार में मंत्री जॉन बारला ने बंगाल विभाजन की मांग करके सियासत तेज कर दी है। केन्द्रीय मंत्री जॉन बारला ने ‘उत्तर बंगाल’ को अलग राज्य बनाने की मांग को जनता की आवाज बताई है। भाजपा की ‘शहीद सम्मान यात्रा’ के तहत सिलीगुड़ी में जॉन बारला ने कहा कि वह अलग राज्य बनाने के लिए इस मुद्दे पर उचित स्तर पर चर्चा करेंगे। मंत्री ने कहा, “अलग उत्तर बंगाल राज्य का निर्माण क्षेत्र के लोगों की आवाज है। मैं इस मुद्दे को उचित स्तर पर उठाऊंगा।”

अलीपुरद्वार से भाजपा सांसद और अल्पसंख्यक मामलों के राज्य मंत्री जॉन बारला ने कहा कि पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस सरकार ने राज्य की अल्पसंख्यक आबादी के लिए कुछ नहीं किया और वोट हासिल करने के लिए उनका इस्तेमाल किया। केन्द्रीय मंत्री ने दावा किया, ”टीएमसी सरकार ने अल्पसंख्यकों के लिए क्या काम किया है? आपने उनके वोट अपने राजनीतिक फायदे के लिए लिए हैं.” बारला ने आरोप लगाया कि विकास के नाम पर टीएमसी आतंकी हथकंडे और प्रताड़ना का सहारा ले रही है। उन्होंने कहा, “देखें कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद की हिंसा कैसे हुई।”

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं लेकिन टीएमसी सरकार हमेशा केंद्र से लड़ती रही है। विपक्ष को एकजुट करने के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के प्रयासों का जिक्र करते हुए बारला ने कहा, “दीदी प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रही हैं। ऐसा कभी नहीं होगा।” उन्होंने दावा किया कि 2024 में भाजपा पश्चिम बंगाल की सभी 42 लोकसभा सीटों पर अच्छे अंतर से जीत हासिल करेगी।

Gyan Dairy

 

Share