उन्नाव केस: आरोपी विनय ने कई बार किया था रागिनी को प्रपोज, इंकार करने पर दी मौत

उन्नाव। उन्नाव में तीन दलित नाबालिग लड़कियों को जहर देने के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को दबोच लिया है। पुलिस का दावा है कि ये बहुचर्चित कांड एक नाकाम प्रेमी ने अंजाम दिया था। आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह ने बताया कि पड़ोस के गांव के विनय उर्फ लंबू ने तीनों नाबालिग लड़कियों को जहरीला पानी पिला दिया था। इसके चलते दो लड़कियों की मौत हो गई, जबकि तीसरी अभी भी कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही है।

पुलिस ने आरोपी विनय उर्फ लंबू और उसके एक नाबालिग सहयोगी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक पाठकपुर का रहने वाला विनय रोशनी (रागिनी) से एकतरफा प्यार करता था। विनय का खेत रागिनी के खेत के बगल में है। कई बार लंबू ने रागिनी के सामने प्यार का इजहार किया था। हालांकि रागिनी ने मना कर दिया था। इससे नाराज विनय ने उसकी हत्या की योजना बनाई।

Gyan Dairy

घटना वाले दिन रागिनी रोज की तरह काजल और कोमल के साथ खेत में गई थी। विनय गांव के नाबालिग दोस्त के साथ वहां पहुंचा। अपने साथ वह एक बोतल पानी में गेहूं में डालने वाला कीटनाशक घोलकर ले गया था। उसने राजू की मदद से दुकान से चिप्स मंगवाए। रागिनी, कोमल और काजल खेत में बरसीम काट रही थीं उसी दौरान लंबू ने उन्हें चिप्स खिलाए। फिर रागिनी ने पानी मांगा तो लंबू ने उसे बोतल थमा दी। रागिनी ने पानी पीकर बोतल काजल को दे दी। काजल से बोतल लेकर कोमल ने पानी पिया। कुछ ही देर में तीनों बेहोश हो गई। इसके बाद लंबू व राजू वहां से फरार हो गए। इस घटना में कोमल और काजल की मौत हो गई जबकी रागिनी का उपचार कानपुर में चल रहा है

Share