उत्तराखंड बर्फीले तूफान ने बढ़ाई ठिठुरन,माइनस 9 डिग्री में डटे हैं जवान

उत्तराखंड। मुनस्यारी के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में पिछले कई दिनों से लगातार बर्फबारी के बाद बर्फीला तूफान आया। इलाको में पहुंचा यह तूफान पांच घंटे से अधिक समय तक रहा। इससे किसी प्रकार से नुकसान नहीं हुआ है। लेकिन तूफान से ठंड और पड़ने का अनुमान है। सुबह चार बजे से बर्फीला तूफान शुरू हुआ। पांच घंटे से ज्यादा चले इस बर्फीले तूफान ने आस—पास के कई इलाकों को ठढ़ पर ठिठुरने पर मजबुर कर दिया है।
समुद्र तल से 3000 मीटर की ऊंचाई वाले इलाकों में तेज हवाएं चलती रहीं। भारत चीन सीमा की अग्रिम चौकियों में भी इसका प्रभाव रहा। पर्यावरण जानकार राजेन्द्र सिंह रावत ने बताया कि स्थानीय लोग इसे हूर कहते है। हिमालयी क्षेत्रों में उठे इस बर्फीले तूफान का असर माइग्रेशन गांवों में भी देखने को मिला। सेना व आईटीबीपी तथा लास्पा में बीआरओ के चेक पोस्टों में भी बर्फीले तूफान को महसूस किया।
मौसम के रंग बदलने के बाद भी भारत-चीन सीमा पर लिपुलेख में —9 डिग्री में होते हुए भी राष्ट्र रक्षा में सेना के जवान डटे खड़े हैं। उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हो रही बर्फबारी भारत-चीन सीमा पर अग्रिम चौकियों में तैनात जवानों की परीक्षा ले रही है।  इस बार पूर्वी लद्दाख सीमा पर तनाव के बाद यहां भी चीन सीमा पर भारी संख्या में सेना के जवान तैनात किए हैं।
Share