Victory Day Russia: भारतीय सेनाओं ने दिखाया दम, रक्षामंत्री बोले-यह गर्व की बात

मॉस्को। भारत-चीन से तनातनी के बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह तीन दिवसीय दौरे पर रूस गए हैं। आज वह रूस की विक्ट्री डे परेड के 75वीं वर्षगांठ पर आयोजित कार्यक्रम में शिरकत किए।इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि उन्हें गर्व है कि भारतीय सशस्त्र बलों की टुकड़ी विजय दिवस परेड में भाग ले रही है। उन्होंने एक ट्वीट कर कहा कि 1941-1945 के युद्ध में सोवियत सेना की विजय की 75वीं वर्षगांठ मनाने के लिए मॉस्को में रेड स्क्वॉयर पर विजय दिवस परेड में शामिल हुआ हूं।

मुझे गर्व है कि भारतीय सशस्त्र बलों की तीनों सेना की टुकड़ी भी इस परेड में भाग ले रही है। विक्ट्री परेड में भारत की तरफ से हर बार कोई न कोई खास व्यक्ति शामिल होने जरूर जाता है। इस बार रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी हिस्सा लेने पहुंचे हैं। इस बार भारत की तीनों सेनाओं का 75 सदस्यीय दल भी रूस की इस विक्ट्री परेड में शामिल हुआ है।

गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह रूस के दौरे पर हैं और माना जा रहा है कि इस दौरान रक्षा मंत्री रूस से जल्द हथियारों की डिलिवरी की बात करेंगे। जिसमें फाइटर एयरक्राफ्ट, टैंक और सबमरीन शामिल हैं। रूस के साथ बड़े हथियारों के साथ करार में सबसे अहम है एस-400 डिफेंस सिस्टम। एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम भारत को दिसंबर 2021 तक मिलना था, लेकिन कोविड-19 की वजह से उसकी डिलेवरी में देरी हो रही है।

Gyan Dairy

 

Share