UA-128663252-1

TRP​ ​फर्जीवाड़ा के बाद 12 हफ्तों के लिए न्यूज चैनलों की वीकली रेटिंग पर रोक लगी

मुंबई। टीआरपी में धांधली उजागर होने के बाद कई चैनलों पर बड़े आरोप लगे थे। मुंबई पुलिस का दावा था कि चैनल फर्जी टीआरपी हासिल कर हैं। इस मामले में मुंबई पुलिस कई चैनलों पर शिकंजा कस रही है। वहीं, इस टेलीविजन रेटिंग बताने वाली संस्था BARC ने बड़ा फैसला लिया है। अब TRP पर अगले 12 हफ्तों तक रोक लगा दी गई है। टेलीविजन न्यूज़ की नियामक संस्था NBA ने BARC के इस फैसले का स्वागत किया है।

मुंबई पुलिस कमिश्नर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दावा किया कि TRP में घोटाला हो रहा था। कुछ चैनल कोशिश कर रहे थे कि वो किसी तरह से टीआरपी को अपनी तरफ खींच लें। लेकिन अब BARC ने फैसला लिया है कि अगले तीन महीनों तक TRP जारी नहीं की जाएगी।

Gyan Dairy

बता दें कि, बार्क ब्रॉडकॉस्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (BARC) टेलीविजन रेटिंग बताने वाली एक एजेंसी है। यह दुनिया का सबसे बड़ा टेलीविजन मेजरमेंट निकाय है। BARC India साल 2010 में शुरू हुआ था और इसका मुख्यालय मुंबई में ही है।

Share