पश्चिम बंगाल: TMC सांसद मिमी चक्रवर्ती को लगा दिया ‘फर्जी’ कोरोना टीका, ऐसे खुली पोल

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में टीएमसी सांसद मिमी चक्रवर्ती सहित कई लोग फर्जी टीकाकरण के शिकार बन गए। कोरोना वैक्सीन लगने के बाद मामला खुला तो पुलिस ने जांच शुरू की। पुलिस ने टीके के सैंपल को जांच के लिए भेजा है तो खुद को कोलकाता म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन का जॉइंट कमिश्नर बताने वाले 28 साल के आरोपी से से पूछताछ की जा रही है।

टीएमसी सांसद मिमी चक्रवर्ती को एक टीकाकरण कैंप में बुलाया गया था। टीएमसी सांसद को बताया गया था कि कोलकाता म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन के जॉइंट कमिश्नर की ओर से किन्नरों और विशेष रूप से सक्षम लोगों के लिए मुफ्त टीकाकरण कैंप लगाया जा रहा है। आयोजकों ने सांसद मिमी चक्रवर्ती से इस कार्यक्रम में शामिल होने की अपील की ताकि दूसरे लोग टीका लगवाने को प्रेरित हों।

Gyan Dairy

मिमी चक्रवती ने बताया कि मैं वहां गई और दूसरे लोगों को प्रेरित किया। मैंने भी टीका लगवाया। लेकिन टीका लेने के बाद जब मुझे फोन पर कोई मैसेज नहीं मिला तो मैंने वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट के बारे में सवाल किया। तब मुझे बताया गया कि यह अगले 3-4 दिन में मिल जाएगा। तब मुझे शंका हुई और मैंने टीकाकरण रोकने के लिए कहा।”

Share