सरकार की नयी योजना : बिना काम के सभी लगों के खाते में आयेंगे 9 हजार रूपये

अब लोगों को यह बोला जाये कि उनके खाते में पैसे आयेंगे तो लोग जल्दी विश्वास नहीं करते हैं। सरकार इस तरह के कई दावे पहले ही कर चुकी है, लेकिन लोगों को कोई पैसे नहीं मिले। इससे लोगों का इस बात से भरोसा ही उठ गया है। लेकिन यह बिलकुल सच है और कोई 10 या 20 लाख रूपये आने की बात नहीं की जा रही है, बस हर साल 9 हजार रूपये आपके खाते में आयेंगे

देश की 5 लाख 27 हजार राशन की दुकानों से जो लोग 1 रूपये से लेकर 3 रूपये में जो चावल गेंहू लाते हैं, उनकी कीमत सरकार को 25-30 रूपये किलो पड़ती है। देश की वितरण प्रणाली में कई सारे छेड़ होने की वजह से सरकारी सब्सिडी का वे लोग भी फायदा उठाते हैं जो इसके लायक नहीं हैं। सरकार इसे दूर करने की योजना बना रही है और बीपीएल एवं एपीएल खाताधारियों को सब्सिडी वाले राशन की जगह सब्सिडी का पैसा उनके खाते में भेजा जायेगा।

जी हाँ अगर सरकार की योजना सफल रही तो लगभग 18 करोड़ लोगों के खाते में हर साल 9 हजार रूपये आयेंगे। यह पैसा सरकार की तरफ से फ़ूड सब्सिडी के रूप में दिया जायेगा। इसके लिए सरकार योजना बना रही है और इसका ट्रायल भी शुरू किया जा चुका है। मौजूदा व्यवस्था के अंतर्गत सरकार आपको खाने पर सब्सिडी दे रही है।

Gyan Dairy

अनुमान के अनुसार पुरे देश में बीपीएल और एपीएल कार्डधारियों की संख्या 18 करोड़ के पार है। सब्सिडी वाले अनाज का फायदा 81 करोड़ लोग उठाते हैं। इसपर सरकार का हर साल 1.40 लाख करोड़ रूपये खर्च होता है। सरकार हर महीने 11,666 करोड़ रूपये सब्सिडी के ऊपर खर्च करती है। इस रकम को अगर हर महीने एक परिवार में 5 सदस्य मानकर वितरित कर दिया जाए तो 750 रूपये की सब्सिडी मिल सकती है।

इस हिसाब से देश के 18 करोड़ लोगों को हर साल 8-9 हजार रूपये सब्सिडी का मिल सकता है। सरकार फ़ूड सब्सिडी को एलपीएजी सब्सिडी की तरह सीधे लोगों के खातों में पहुँचाना चाहती है। सरकार की इस योजना का पायलट प्रोजेक्ट रांची में शुरू किया जाने वाला है।

Share