आपराधिक छवि वाले प्रत्याशियों की सूची में कांग्रेस अव्वल : पंजाब चुनाव 2017

पंजाब विधान सभा चुनाव में क़िस्मत आज़मा रहे 1145 उम्मीदवारों में से 101 के ख़िलाफ़ आपराधिक मामले दर्ज हैं जबकि 78 के ख़िलाफ़ गम्भीर आपराधिक मामले हैं. चार उम्मीदवारों के ख़िलाफ़ हत्या और 11 के ख़िलाफ़ हत्या का प्रयास करने की धाराओं के तहत मामले चल रहे हैं जबकि छह के ख़िलाफ़ महिलाओं के प्रति हिंसा का मामला दर्ज है. आपराधिक मामले वाले नेताओं को टिकट देने में कांग्रेस पार्टी सबसे आगे है, आम आदमी पार्टी दूसरे जबकि शिरोमणि अकाली दल तीसरे नम्बर पर है.

अमीर उम्मीदवारों की बात करें तो इस बार 37 फ़ीसदी उम्मीदवार करोड़पति हैं. सबसे ज़्यादा करोड़पति उम्मीदवार शिरोमणि अकाली दल हैं. कांग्रेस, भाजपा इस मामले में दूसरे, तीसरे नम्बर पर हैं. जबकि आम आदमी की पार्टी होने का दावा करने वाली आप के भी आधे से ज़्यादा 63 फ़ीसदी उम्मीदवार करोड़पति हैं. रिपोर्ट के मुताबिक़ सबसे रईस उम्मीदवार कांग्रेस पार्टी के राणा गुरजीत सिंह हैं जिनके पास 169 करोड़ रुपये की दौलत है, जबकि कांग्रेस के ही नवजोत सिंह सिद्धू सबसे ज़्यादा आयकर देने वाले उम्मीदवार हैं.

पंजाब के विधानसभा चुनावी समर में उतरने के इच्छुक उम्मीदवारों की संख्या 1941 है. नामांकन दाखिले के अंतिम दिन बुधवार को कुल 1040 प्रत्याशियों ने पर्चे दाखिल किए. नामांकन पत्रों कीं छंटनी और नाम वापसी के बाद पंजाब के समर की स्थिति साफ होगी.

Gyan Dairy

रिपोर्ट के मुताबिक़ चुनाव लड़ रहे 60 फ़ीसदी उम्मीदवार 12वीं या उससे कम पढ़े हैं जबकि 32 फ़ीसदी ग्रैजूएट या उससे ज़्यादा पढ़े लिखे हैं.

पंजाब में चार फरवरी को विधानसभा चुनाव है. इसके लिए नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन नवजोत सिंह सिद्धू, पंजाब कांग्रेस प्रमुख अमरिंदर सिंह और आम आदमी पार्टी के नेता भगवंत मान सहित 1040 उम्मीदवारों ने अलग-अलग सीटों के लिए नामांकन दाखिल किए. अब तक दाखिल नामांकनों के साथ कुल नामांकनों की संख्या 1941 हो गई है. 117 सदस्यीय विधानसभा के लिए वर्ष 2012 के चुनाव में 1078 उम्मीदवार मैदान में उतरे थे.

Share