राजस्थान: सीएम अशोक गहलोत ने विधानसभा में पेश किया बजट, कही ये बात

नई दिल्ली। राजस्थान की कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए राज्य का बजट पेश किया है। सीएम गहलोत ने बजट पेश करते हुए कहा कि सरकार सभी सरकारी स्कूलों में शनिवार को ‘नो बैग डे’ घोषित करेगी। जिससे स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के पढ़ाई का बोझ कम किया जा सके। राजस्थान सरकार मिलावटखोरी के खिलाफ कड़े कदम उठाएगी, हर जिले में प्रयोगशाला स्थापित होगी और फास्ट ट्रैक अदालतें स्थापित की जाएंगी।

सीएम ने कहा कि सभी सरकारी स्कूलों में शनिवार को नो बैग डे घोषित किया जाएगा। इससे स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं के पढ़ाई के बोझ से कुछ हद तक मुक्ति मिलेगी। इस दिन स्कूलों में पढ़ाई नहीं होगी। सिर्फ खेलकूद और सांस्कृतिक गतिविधियां ही होंगी। उन्होंने कहा कि शिक्षा का विकास करना हमारी प्राथमिकता है।

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि जोधपुर, अजमेर, अलवर, बूंदी, बीकानेर, भरतपुर, बाड़मेर, चूरू, भरतपुर, धौलपुर, जैसलमेर, सिरोही और उदयपुर के 22 स्मारकों का पुनरुद्धार कराया जाएगा। इसके साथ ही प्रदेश के आर्काइव्स के दस्तावेजों को ऑनलाइन कराया जाएगा।

Gyan Dairy

सीएम ने कहा कि सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति को नजदीकी प्राइवेट अस्पताल में ले जाने पर अस्पताल को इलाज करना अनिवार्य होगा। ऐसा नहीं करने पर अस्पताल के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए जरूरत पड़ी तो कानूनी प्रावधान भी किए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए 100 करोड़ की घोषणा की गई है। स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 14 हजार करोड़ से ज्यादा का प्रावधान किया गया है।
इसके साथ ही धौलपुर और करौली में 30 करोड़ की लागत से टाउन हॉल और जोधपुर शहर में अंतरराष्ट्रीय स्तर के आयोजनों के लिए बड़ा और आधुनिक ऑडिटोरियम बनाया जाएगा।

Share