यूपी चुनाव 2017 : कांग्रेस-सपा गठबंधन को प्रशांत किशोर ने दिया नया नारा ‘यूपी को यह साथ पसंद है’

लखनऊ: समाजवादी पार्टी नेता व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी रविवार को लखनऊ के होटल विवांता में होने वाली संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में नया चुनावी नारा – ‘यूपी को यह साथ पसंद है’ – जारी करेंगे, जो कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की तरफ से दिया गया है.

इस नारे के ज़रिये अखिलेश यादव और राहुल गांधी की जोड़ी को जनता के सामने यूथ आइकॉन के रूप में पेश किए जाने का इरादा है. गौरतलब है कि इस चुनाव में संयुक्त प्रचार के लिए प्रशांत किशोर की ओर से दिया गया यह दूसरा नारा है. इससे पहले उन्होंने नारा दिया था – ‘अपने लड़के बनाम बाहरी मोदी’.

पता चला है कि प्रशांत किशोर की टीम ने कांग्रेस-समाजवादी पार्टी के बीच गठबंधन होने से पहले ही संयुक्त प्रचार अभियान के लिए कई नारे तैयार कर लिए हैं. गौरतलब है कि पिछले साल हुए बिहार विधानसभा चुनाव के वक्त प्रशांत किशोर का दिया भोजपुरी नारा – ‘बिहार में बहार है, नीतीशे कुमार है’ काफी लोकप्रिय हुआ था.

Gyan Dairy

उत्तर प्रदेश के साथ ही चुनाव में जा रहे पंजाब में दो रैलियां करने के बाद रविवार को राहुल गांधी लखनऊ आएंगे, इसलिए अखिलेश यादव के साथ उनकी प्रेस कॉन्फ्रेंस शाम से पहले होने की संभावना नहीं है.

वैसे, प्रशांत किशोर चाहते हैं कि इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद भी ज़्यादा से ज़्यादा संयुक्त प्रचार अभियान चलाया जाए, लेकिन सूत्रों के मुताबिक अखिलेश कैम्प बहुत ज़्यादा संयुक्त प्रचार अभियान से बच रहा है. फिर भी उम्मीद है कि राहुल और अखिलेश की 14 संयुक्त रैलियां ज़रूर होंगी, और मतदान के हर चरण से पहले दो-दो संयुक्त रैलियों को अखिलेश-राहुल मिलकर संबोधित करेंगे.

Share