Janmashtami: श्रीकृष्ण जी से पाना चाहते हैं मन चाहा वरदान तो उन्हे प्रसन्न करने के लिए करें इन मंत्रों का जाप

आज पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ श्री कृष्ण जी का जन्मोत्सव (Janmashtami) मनाया जा रहा है। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण का विधि-विधान से पूजन किया जाता है। जन्माष्टमी को कन्हैया के जन्मोत्सव के रुप में मनाते हैं। मान्यता है कि जन्माष्टमी को विधि-विधान से पूजन और मंत्रों का जप करने से मनचाहे वरदान की प्राप्ति होती है।

अगर आप भी इस जन्माष्टमी भगवान श्रीकृष्ण को करना चाहते हैं प्रसन्न तो जानिए कौन से मंत्रों का जाप करना होता है लाभकारी-

1. इस मंत्र से पूरी होती हैं मनोकामनाएं-

‘ओम ऐं ह्रीं श्रीं नमो भगवते राधाप्रियाय राधारमणाय गोपीजनवल्लभाय ममाभीष्टं पूरय पूरय हुं फट् स्वाहा।’

2. धन-वैभव और मोक्ष प्राप्ति के लिए मंत्र-

‘श्रीं ह्रीं क्लीं कृष्णाय नमः’
दूसरा मंत्र-‘ओम कृष्णाय वद्महे दामोगराय धीमहि तन्नः कृष्ण प्रचोदयात्।’

Gyan Dairy

3. रिश्तों में प्रेम घोलने के लिए मंत्र-
‘ओम प्रेमधनरूपिण्यै प्रेमप्रदायिन्यै श्रीराधायै स्वाहा।’

4. संतान प्राप्ति के लिए मंत्र-
‘देवकी सुत गोविंद वासुदेव जगत्पते!
देहिमे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गत:!!’

दूसरा मंत्र- ‘क्लीं ग्लौं श्यामल अंगाय नम: !!
विवाह में विलंब के लिए मंत्र है :
ओम् क्लीं कृष्णाय गोविंदाय गोपीजनवल्ल्भाय स्वाहा।’

5. भगवान श्रीकृष्ण की अराधना के लिए मंत्र-
ज्योत्स्नापते नमस्तुभ्यं नमस्ते ज्योतिशां पते!
नमस्ते रोहिणी कान्त अर्घ्य मे प्रतिगृह्यताम्!!

Share