जाने तुलसी पूजा और एकादशी व्रत से जुड़ी गरुड़ पुराण की ये बाते

सनातन धर्म में गरुड़महापुराण का बहुत अधिक महत्व है। अठारह पुराणों में गरुड़महापुराण बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है। गरूड़ पुराण में विष्णु-भक्ति का अच्छे से वर्णन किया गया है। आमतौर पर मृत्यु के बाद ही इस पुराण का पाठ कराया जाता है। इसमें एकादशी व्रत और तुलसी पूजन का भी बहुत महत्व बताया गया है। इसके अलावा जीवन में धन और विद्या समेत कई चीजों के बारे में जानकारी आपके गरुड़ पुराण में सुनने को मिलेगीय़

गरुण पुराण में एकादशी व्रत के बारे में जिक्र किया गया है। इसमें कहा गया है कि जो व्यक्ति नियपूर्वक एकादश व्रत रखता है, उसके जीवन के सभी कष्ट दूर होते हैं। एकादशी व्रत को हमेशा नियम के साथ ही रखना चाहिए। इस व्रत को रखने से चंद्रमा का बुरा प्रभाव समाप्त होता है।

गरुड़ पुराण में तुलसी का महत्व भी बताया है। तुलसी कई रोगों को ठीक करने वाली है। जो लोग भगवान विष्णु के साथ मां तुलसी की पूजा करते हैं उन्हें निश्चय ही शुभ फल की प्राप्ति होती है।

Gyan Dairy

गरुड़ पुराण में धन को लेकर भी कई बातें बताई गई हैं। गरुड़ पुराण के अनुसार व्यक्ति को साफ सुथरे वस्त्र पहनने चाहिए। जो व्यक्ति गंदे और बदबुदार कपड़े पहने हैं उनके यहां से महालक्ष्मी चली जाती हैं और उनका धन नष्ट हो जाता है। उनके घर में धीरे-धीरे दरिद्रता का वास होता है। इसलिए हमेशा साफ-सुथरे और सुगंधित कपड़े पहनने चाहिए।

विद्या को लेकर इसमें बताया गया है कि हम जो भी पढ़ें हमें उसकी एक बार उसका अभ्यास जरूर करना चाहिए। बिना अभ्यास के वह विद्या नहीं आती। एक बार अभ्यास करने से मस्तिष्क उसे अच्छे से ग्रहण कर लेता है।

Share