बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते अयोध्या में निकलने वाली राम बारात रद्द

नई दिल्‍ली: हर वर्ष अयोध्या में राम बारात निकलती है लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से ये कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है। बता दें कि अयोध्या में शनिवार को राम बारात कार्यक्रम था जिसे रद्द करने का फैसला किया गया है। बताया गया कि अयोध्या में भी कोरोना वायरस के मामलों में लगातार वृद्धि होती जा रही है। इस आयोजन को रद्द करने का निर्णय धर्म यात्रा महासंघ और विश्व हिंदू परिषद (VHP) द्वारा कोविड-19 मामलों में तेजी को देखते हुए लिया गया है, जो राज्यभर में फैले है।

फैसले पर टिप्पणी करते हुए विहिप के प्रवक्ता शरद शर्मा ने कहा कि संगठन ने “राम बारात” को रद्द करने का फैसला किया है, जोकि साधुओं के परामर्श से भगवान राम की विवाहित बारात है।

उन्होंने कहा, “हमने इस वर्ष ‘बारात’ को रद्द करने का फैसला किया है। हमने लोगों से उनके घरों और मंदिरों में उत्सव मनाने, हल्के मिट्टी के दीपक जलाने, शंख बजाने, पवित्र मंत्रों का उच्चारण करने और झंडा फहराने का आग्रह किया है।”

“राम बारात अयोध्या के विभिन्न मंदिरों से हर पांच साल में एक बार कारसेवकपुरम से जनकपुर तक जाती है। लेकिन 9 नवंबर 2019 को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद इसे हटा दिया गया था। इसके बाद इसे इस साल भी आयोजित किया जाना था। उन्होंने कहा कि अच्छी तरह से कोविड-19 के कारण यह रद्द हो गया।

Gyan Dairy

प्रवक्ता ने कहा, ‘हालांकि राम बारात का जुलूस अयोध्या में ही निकाला जाएगा।’ श्रीजानकी महल मंदिर के ट्रस्टी आदित्य सुल्तानिया ने कहा, “प्रशासन द्वारा जारी की जाने वाली कोविड-19 गाइडलाइन जो भी होगी उसका पूरी तरह से पालन किया जाएगा। मैंने यह व्यवस्था की है कि जो भक्त ‘राम बारात’ देखने के लिए बाहर से आए हैं, उनकी देखभाल की जाएगी।

वह मीडिया और फेसबुक, ट्विटर के माध्यम से घर पर ‘राम बारात’ को देख सकते हैं।

Share