मुक्केबाज लवलीना ने जीता कांस्य पदक, टोक्यो ओलंपिक में भारत को मिला तीसरा पदक

टोक्यो। देश की बेटियों ने टोक्यो ओलंपिक में भारत का मान बढ़ाया है। युवा मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन ने ओलंपिक में कांस्य पदक हासिल किया है। 22 वर्षीय महिला मुक्केबाज को सेमीफाइनल में मौजूदा विश्व चैंपियन तुर्की की बुसेनाज सुरमेनेली के हाथों हार का सामना करना पड़ा। इस मुकाबले में लवलीना को 0-5 से शिकस्त झेलनी पड़ी। लवलीना फाइनल में पहुंचने से चूक गईं। हालांकि ओलंपिक इतिहास में पदक जीतने वाली भारत की दूसरी महिला मुक्केबाज बन गई हैं।  वह 125 साल के ओलंपिक इतिहास में असम की पहली एथलीट हैं जिन्होंने पदक जीता है।

लवलीना के कांस्य पदक के साथ ही मेडल्स टैली में भारत के पदकों की संख्या तीन हो गई है। तीनों ही पदक भारतीय बेटियों ने जीते हैं, जिसमें मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग में सिल्वर तो वहीं बैडमिंटन और मुक्केबाजी में पीवी सिंधु और लवलीना बोरगोहेन ने कांस्य पदक अपने नाम किए हैं। बता दें कि लवलीना से पहले सिर्फ दिग्गज मैरीकॉम और विजेंद्र सिंह ने ही मुक्केबाजी में ओलंपिक मेडल जीते थे।

Gyan Dairy
Share