UA-128663252-1

BCCI पर पड़ी कोरोना वायरस की मार, 11 कोच की छटनी का फैसला लिया गया

दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई (BCCI) है. दुनिया भर में फैली कोरोना वायरस की महामारी के बावजूद बीसीसीआई (BCCI) यूएई में अपनी टी20 लीग आईपीएल (IPL) का आयोजन कराने में सफल रही है. हालांकि खिलाड़ियों की सुरक्षा को देखते हुए काफी पुख्ता इंतजामों के साथ बायो-सेक्योर बबल तैयार किया गया हैइन तमाम बातों की वजह से दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है. नुकसान के मद्देनज़र ही बीसीसीआई ने अपने कॉन्ट्रैक्ट पर रहने वाले कोच की छटनी का फैसला किया है.

बीसीसीआई से जुड़े 11 कोच ऐसे हैं जिनका कॉन्ट्रैक्ट अगले महीने खत्म होने जा रहा है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक 5 कोच को बोल दिया गया है कि उनका कॉन्ट्रैक्ट आगे नहीं बढ़ाया जाएगा. जिन कोच को बीसीसीआई ने कॉन्ट्रैक्ट नहीं बढ़ाने के बारे में कहा है उनका सलाना पैकेज 30 से 55 लाख रुपये तक है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक नेशनल क्रिकेट एकेडमी के हेड राहुल द्रविड ने सभी 11 कोच को बता दिया है कि उनका कॉन्ट्रैक्ट आगे नहीं बढ़ाया जाएगा. हालांकि कोच का कहना है कि बीसीसीआई ने उन्हें कॉन्ट्रैक्टट नहीं बढ़ाए जाने की वजह नहीं बताई है. द्रविड़, बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह ने भी पूरे मामले पर चुप्पी साध रखी है.

Gyan Dairy

ऐसा नहीं है कि बीसीसीआई की आर्थिक हालत ज्यादा खराब हुई है. बीसीसीआई ने अपनी पिछली बैलेंस सीट में 5,526 करोड़ रुपये कैश और बैंक बैलेंस होने की जानकारी दी थी. इसके अलावा बीसीसीआई ने 2,992 रुपये के फिक्स्ड डिपॉजिट होने के बारे में भी बताया था. 2018 में स्टार स्पोर्ट्स के साथ पांच साल की ब्रॉडकास्टिंग डील से बीसीसीआई को 6,138 करोड़ रुपये मिले.

Share