भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का दूसरा टी-20 मैच नागपुर खेला जाएगा, ऋषभ पंत को इन वजहों से मिल सकता है मौका

भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का दूसरा टी-20 मैच नागपुर के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन के मैदान पर रविवार को यानी आज खेला जाएगा. कानपुर में खेले गए पहले टी-20 मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा था. इस तरह इस सीरीज में बने रहने के लिए भारत को आज का मैच किसी भी हाल में जीतना न पड़ेगा. अगर भारत मैच हार जाता है ततो सीरीज पर इंग्लैंड का कब्ज़ा हो जाएगा और कोहली घर पर अपनी कप्त्नानी में अपनी पहली ही टी-20 सीरीज हार जाएंगे. ऐसे में कोहली को सही बल्लेबाजों का चयन टीम में करना होगा. विराट कोहली के पास ऋषभ पंत एक अच्छा विकल्प हैं जिन्हें वे मौका दे सकते हैं.

घरेलू मैचों में शानदार प्रदर्शन के लिए ऋषभ पंत को आज मौक़ा मिलने का संभावना ज्यादा है. ऋषभ अपनी तबाड़तोड़ बल्लेबाजी के जाने जाते हैं. प्रथम श्रेणी मैचों में ऋषभ का स्ट्राइक रेट 102 से भी ज्यादा है जबकि टी-20 में उन्होंने 130 के करीब स्ट्राइक रेट में रन बनाए हैं. 2016 में खेले गए आईपीएल में पंत ने उम्दा प्रदर्शन किया था.

पहले मैच में भारत के धुरंधर बल्लेबाज़ कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए थे. सलामी बल्लेबाज के रूप में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में विफल रहे केएल राहुल सिर्फ आठ रन बनाकर आउट हो गए थे. महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली, सुरेश रैना को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज आकर्षक पारी नहीं खेल पाया. युवराज सिंह का बल्ला भी नही चला था. हार्दिक पांड्या भी फ्लॉप रहे थे. ऐसें में ऋषभ पंत को लोकेश राहुल की जगह मौका दिया जा सकता है.

12 जनवरी 2016 को इंडिया ए के तरफ से खेलते हुए ऋषभ ने इंग्लैंड के खिलफ दमदार प्रदर्शन किया था. ऋषभ ने सिर्फ 36 गेंदों का सामना करते हुए आठ चौके और दो छक्के के मदद से 59 रन बनाए थे. भारत इस मैच को छह विकेट से जीतने में कामयाब रहा था.

Gyan Dairy

प्रथम श्रेणी क्रिकेट में ऋषभ सबसे तेज शतक लगा चुके हैं. 5 नवंबर को झारखंड के खिलाफ मैच में ऋषभ ने सिर्फ 48 गेंदों का सामना करते हुए शतक बनाया था. दिल्ली की ओर से खेलते हुए ऋषभ ने दूसरी पारी में यह कारनामा कर दिखाया था. ऋषभ कुल मिलाकर 201 के स्ट्राइक रेट में 135 रन बनाए थे. इस पारी में ऋषभ ने 13 छक्के और आठ चौके लगाए थे. पहली पारी में भी ऋषभ ने 110 की स्ट्राइक रेट से 117 रन बनाए थे.

अगर केएल राहुल को मौक़ा नहीं मिलता है या विराट कोहली सलामी बल्लेबाज के रूप में नहीं उतरते हैं तो ऋषभ भारतीय पारी की शुरुआत कर सकते हैं. आईपीएल में दिल्ली डेयरडेविल्स के तरफ से ऋषभ सलामी बल्लेबाज के रूप में खेल चुके हैं. 3 मई 2016 को गुजरात लायंस के खिलाफ मैच में ओपनिंग करते हुए ऋषभ ने सिर्फ 40 गेंदों का सामना करते हुए सबसे ज्यादा 69 रन बनाए थे. ऋषभ के इस शानदार पारी के वजह से दिल्ली ने गुजरात लायंस को आठ विकेट से हराया था और ऋषभ मैन ऑफ़ द मैच का ख़िताब जीता था.

Share