जाने ICC के कौन से नियम से नाखुश हैं नासिर हुसैन, बदलाव की मांग

आईसीसी के कुछ नियमों की वजह से अक्सर क्रिकेटर नाखुश रहते हैं, आईसीसी इसीलिए समय समय पर अपने नियमों में बदलाव करती है। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन चाहते हैं कि इंटरनैशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) खराब रोशनी से संबंधित अपने नियमों में बदलाव करे जिसकी वजह से इतने सालों से टेस्ट मैच प्रभावित हुए हैं। बुधवार को अधिकारियों ने इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच पहले टेस्ट के शुरुआती दिन के खेल को महज 17.4 ओवर खेलने के बाद खराब रोशनी और बारिश के कारण रद्द कर दिया था। आईसीसी इसका फैसला पूरी तरह से अंपायरों पर छोड़ती है, जो मिलकर फैसला करते हैं कि खराब रोशनी खेलने के लिए खतरनाक होगी या फिर इसमें खेलना अनुचित होगा।

इंग्लैंड के लिये 96 टेस्ट में 5764 रन बना चुके हुसैन को लगता है कि भले ही रोशनी थोड़ी खराब हो, लेकिन शायद अंपायर खिलाड़ियों को लंबे समय तक खेलने के लिए रख सकते हैं। हुसैन ने स्काय स्पोर्ट्स क्रिकेट पर कहा, ‘यह एक ऐसी चीज है जिसकी आपको कोशिश करनी होगी और इस खेल में नए व्यक्ति को समझानी होगी। आप इतना सारा पैसा लाइट में खर्च करते हो, लाइट को चलाइए। इस मौके पर उन्होंने बारिश की वजह से ऐसा किया। यह ऐसी चीज है जिसे मैं चाहूंगा कि आईसीसी इसमें बदलाव करे।’

उन्होंने कहा, ‘वे भले ही कह सकते हैं कि आप संन्यास ले चुके हो और आंकड़ों की बात करते हो, लेकिन देखिए, लाइट अभी जली हुई हैं। अगर अभी बारिश नहीं हो रही तो शायद खिलाड़ी इस चीज को समझ सकते हैं कि खेल को खुद को बेचते रहना चाहिए और अगर आप रुक सकते हो तो रुके रहिए।’ खराब रोशनी के नियमों की पहले भी आलोचना हो चुकी है।

Gyan Dairy

पिछले साल जनवरी में एससीजी पर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच के दौरान अंपायरों ने खराब रोशनी के कारण चौथे दिन का खेल रोक दिया था तब भी इन नियमों पर सवाल उठाए गए थे। एशेज 2013 में 227 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड को 24 गेंद में 21 रन की जरूरत थी और उसके पांच विकेट बाकी थे लेकिन अंपायरों ने खराब रोशनी के कारण मैच रोक दिया था

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share