अश्विन के ऑलराउंड प्रदर्शन से टीम इंडिया ने इंग्लैंड को 317 रनों से हराया, जानें खास बातें

नई दिल्ली। टीम इंडिया ने इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की टेस्ट सीरीज में दूसरा मैच इसी 317 रनों से अपने नाम किया। इस मैच में जीत के हीरो रहे आर अश्विन और रोहित शर्मा रहे। विस्फोटक बल्लेबाज रोहित शर्मा ने पहली पारी में 161 रनों की पारी खेली। वहीं आर अश्विन ने गेंद और बल्ले से कमाल का प्रदर्शन कर सेंचुरी भी ठोकी और कुल आठ विकेट भी लिए। इस जीत के साथ ही टीम इंडिया की आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में खेलने की उम्मीदें भी कायम हैं।

टीम इंडिया ने टॉस जीतकर जब 329 रन बनाए और इंग्लैंड की टीम 134 रनों पर ऑलआउट हो गई, उसके बाद से इंग्लैंड के कुछ पूर्व क्रिकेटरों ने चेन्नई की पिच पर सवाल खड़े किए और कहा कि इस पिच पर जो टीम टॉस जीतेगी, वही मैच जीतेगी। पिच के स्पिन फ्रेंडली होने को लेकर भी काफी बहस हुई। भारत की ओर से दूसरी पारी में कप्तान विराट कोहली और आर अश्विन ने जिस तरह से बल्लेबाजी की, उन्होंने बता दिया कि इस पिच पर बल्लेबाजी करना नामुमकिन नहीं है। विराट ने 62 और अश्विन ने 106 रनों की पारी खेली। इन दोनों की पारियों ने पिच को कोसने वाले क्रिकेट पंडितों की बोलती बंद कर दी।

Gyan Dairy

रोहित शर्मा ने ने 231 गेंदों पर 18 चौके और दो छक्कों की मदद से 161 रनों की पारी खेली। रोहित ने चेतेश्वर पुजारा के साथ 85 और अजिंक्य रहाणे के साथ 162 रनों की साझेदारी निभाई। टीम इंडिया के पहली पारी के स्कोर में आधे से ज्यादा रन तो रोहित के ही बल्ले से निकले। वहीं आर अश्विन ने जहां इंग्लैंड की पहली पारी में पांच विकेट झटके, वहीं भारत के लिए दूसरी पारी में 106 रनों की पारी खेली। अश्विन ने जिस तरह से दूसरी पारी में बल्लेबाजी की, उससे उन्हें साबित कर दिया कि टेस्ट क्रिकेट में वह टीम इंडिया के सबसे बड़े मैच विनर खिलाड़ियों में से एक हैं। अश्विन इस दौरान भारत की ओर से नंबर-8 पर बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा सेंचुरी लगाने वाले खिलाड़ी भी बने और एक ही मैच में तीसरी बार सेंचुरी और फाइव विकेट हॉल का कारनामा किया।

Share