दिल्ली : गाय पर पत्थर फेंकने के बाद संघर्ष में हुए 5 घायल

एक महिला के गाय पर पत्थर फेंकने के तीन दिन हुए संघर्ष से कम पांच लोग घायल हुए हैं और यह दक्षिण दिल्ली के कुसुम पहाड़ी इलाके में हुए जहाँ दो अलग-अलग मामले दर्ज किए गए थे। पुलिस ने कहा कि 31 मार्च को 6 बजे जयशंकर और उनकी पत्नी शर्मिला सावित्री वाकिंग के लिए जा रहे थे कि शौचालय के पास एक गाय महिला की तरफ आ रही थी। पुलिस ने कहा कि इस क्षेत्र में एक अस्थायी गोशाला है।

शर्मिला ने कहा कि उसने एक पत्थर उठाया और गाय को डराने के लिए फेंक दिया। इसके कुछ ही मिनटों में गायों के मालिक वहां इकट्ठा हो गए और उनको मारना शुरू कर दिया। उन्होंने मेरे भाई को भी मारने की कोशिश की, जिन्होंने मामले में हस्तक्षेप की कोशिश की थी।

जयशंकर ने कहा कि मेरे भाई का एक हाथ तोड़ दिया है और उसके सिर पर कई टाँके लगे हैं। अंत मे कुछ लोगों ने बीचबचाव किया।

Gyan Dairy

वसंत कुंज सी-ब्लॉक मार्केट में एक बढ़ई के रूप में काम करने वाले जयशंकर ने कहा कि वह 1 अप्रैल को अस्पताल गए और अगले दिन एक शिकायत दर्ज करने में कामयाब रहे। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी और फिर दूसरे दिन भी हमला हुआ। इस बार पीड़ित लोग वो ऐसे लोग थे जिन्होंने 31 मार्च को हमला रोकने के लिए हस्तक्षेप किया था। इस मामले में एक बार फिर शिकायत दर्ज की गई।

एक निजी चालक उदयचंद मंडल उन लोगों में से एक था जिन्होंने 31 मार्च को हिंसा को रोकने के लिए प्रयास किया था। हादसे में जयशंकर जख्मी हो गया था उसका भाई घायल हो गया। उन्होंने कहा कि मैंने सोचा था कि लड़ाई खत्म हो गई थी और पुलिस ने उसे पकड़ लिया था। लेकिन अगले दिन वही लोग आए और मुझे, मेरे भाई और हमारे बेटों को मारना शुरू कर दिया। अतिरिक्त डीसीपी (दक्षिण) चिन्मय बिस्वाल ने कहा कि उन्होंने चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच चल रही है।

Share