हाईकोर्ट से मिली जमानत आरोपी रॉकी यादव को: आदित्य हत्याकांड

हालांकि, रॉकी यादव के जमानत याचिका की सरकारी वकील दिलीप कुमार सिन्हा ने भारी विरोध किया. सरकारी वकील ने कहा कि प्राथमिकी में रॉकी यादव का नाम है और 164 के बयान में भी रॉकी यादव का नाम लिया गया है. पटना उच्च न्यायालय ने गया के आदित्य सचदेवा हत्याकांड के मुख्य आरोपी रॉकी यादव को जमानत दे दी है. मुख्य न्यायाधीश इकबाल अहमद अंसारी की कोर्ट ने रॉकी यादव की जमानत याचिका की सुनवाई की और देर शाम जमानत पर रिहा कर देने का आदेश दिया. रॉकी यादव गया के आदित्य हत्याकांड का मुख्य आरोपी है और इस साल जून से जेल में बंद है. इसके पहले हाई कोर्ट से रॉकी यादव के पिता बिंदी यादव और मां मनोरमा देवी को भी जमानत मिल चुकी है.

aditya2-578x395

बचाव में उन्होंने कहा कि घटना के समय गाड़ी पर बैठे तीन अन्य लड़कों ने भी अपने बयान में यही कहा कि गोली पीछे से आयी और आदित्य को लग गयी जिससे अस्पताल में उसकी मौत हो गयी न्होंने कोर्ट से कहा कि आदित्य सचदेवा की हत्या एक जघन्य हत्या है और इसके मुख्य आरोपित को जमानत नहीं मिलनी चाहिए. दूसरी ओर बचाव पक्ष के वकील वरीय अधिवक्ता वाइ वी गिरि का तर्क था कि किसी भी गवाह ने यह नहीं कहा कि आदित्य सचदेवा को रॉकी यादव ने गोली मारी. बिंदी पर हत्याकांड के सबूतों से छेड़छाड़ का आरोप था। रॅाकी यादव को जमानत मिलने के बाद विपक्ष ने कानून और व्यवस्था को लेकर नीतीश सरकार पर निशाना साधा है।  बचाव में उन्होंने कहा कि घटना के समय गाड़ी पर बैठे तीन अन्य लड़कों ने भी अपने बयान में यही कहा कि गोली पीछे से आयी और आदित्य को लग गयी जिससे अस्पताल में उसकी मौत हो गयी. देर शाम जमानत का फैसला आने की वजह से अभी रॅाकी जेल में ही है। आदित्य सचदेव हत्याकांड में आरोपी रॉकी के पिता व पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष बिंदी यादव को जमानत मिल चुकी है।

Gyan Dairy

बिंदी पर हत्याकांड के सबूतों से छेड़छाड़ का आरोप था। विपक्ष के नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा, ‘पहले शहाबुद्दीन, फिर राजबल्लभ और अब रॅाकी यादव को जमानत मिल गई है। नीतीश कुमार इन गुंडों को जेल से बाहर निकलने में मदद कर रही हैं. लालू विदित हो कि बीते मई में रोडरेज के विवाद में गया के एक व्यवसायी के बेटे आदित्य सचदेव की हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का आरोप रॉकी यादव पर लगा है। इस हत्याकांड में रॉकी के पिता बिंदी यादव और उसकी मां जदयू एमएलसी मनोरमा देवी के बॉडीगार्ड राजेश कुमार को गिरफ्तार किया गया था। इसके साथ ही इस मामले के चर्चा में आने के बाद जेल में गया रॉकी का पूरा परिवार जेल से बाहर आ गया है। ऱॉकी हालांकि जेल से छूटा नहीं है लेकिन माना जा रहा है कि अदालत के फैसले की प्रति जेल में पहुंचने के बाद उसे जेल से रिहा करने की कार्रवाई शुरू हो जाएगी। इस हत्याकांड में ही आरोपी रॉकी के पिता व पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष बिंदी यादव को जमानत मिल चुकी है। बिंदी पर साक्ष्य छिपाने का आरोप था।

 

Share