CBSE के बाद MP बोर्ड ने भी कक्षा 12वीं की परीक्षाएं होंगी रद्द, CM शिवराज सिंह चौहान ने कही ये बात

भोपाल। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने देश में जो भयावह हालात पैदा किए हैं उनकी गूंज दशकों तक सुनाई देगी। कोरोना के कहर का असर देश की अर्थव्यवस्था के साथ ही बच्चों की पढ़ाई पर भी पड़ा है। सीबीएसई ने 10वीं व 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। इसी तर्ज पर एमपी बोर्ड ने 12वीं कक्षा की परीक्षा रद्द कर दी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर बोर्ड ने ये निर्णय लिया है।

इससे पहले कोरोना संक्रमण की बढ़ते दर और विद्यार्थियों के स्वास्थ्य को मद्देनजर रखते हुए मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीबीएसई कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा को रद्द करने का फैसला लिया था। इसके बाद से ही मध्यप्रदेश सरकार द्वारा बारहवीं बोर्ड परीक्षा को रद्द करने के फैसले के कयास लगाए जा रहे थे।  मध्यप्रदेश के शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने आज 12वीं बोर्ड परीक्षा से संबंध में निर्णय के लिए बैठक बुलाई थी। बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सहमति के बाद बोर्ड परीक्षा रद्द करने का फैसला किया गया है।

Gyan Dairy

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 12 वीं बोर्ड के रिजल्ट किस प्रकार आएंगे इसके लिए मंत्रियों का एक समूह बना दिया गया है जो विशेषज्ञों से बात कर रिजल्ट का तरीका तय करेगा। उन्होंने आगे कहा कि अगर 12वीं का कोई बच्चा बेहतर परिणाम या सुधार के लिए परीक्षा देना चाहेगा तो उसके लिए विकल्प खुला रहेगा।

Share