UA-128663252-1

बिहार विधानसभा चुनाव: इन नेताओं की संपत्ति है करोड़ों में, खुद को बताते हैं किसान

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव में उम्मीदवारों के शपथ पत्र में कई चौंकने वाली बातें सामने आई हैं। खुद को किसान बताने वाले नेताओं की संपत्ति करोड़ों में निकली है। दरअसल, बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के पहले चरण में 1065 प्रत्याशी मैदान में हैं। इन प्रत्याशियों के शपथ पत्रों के अनुसार 42 प्रत्याशियों का पेशा किसानी है, वहीं 93 अन्य ऐसे प्रत्याशी हैं, जिन्होंने कृषि को अन्य व्यवसाय के साथ पेशा बताया है।

बिहार के इन किसान नेताओं की बात करें, तो औरंगाबाद के भाजपा प्रत्याशी रामाधार सिंह के सबसे ज्यादा जमीन 29.39 एकड़ के मालिक हैं। वहीं दूसरे नंबर पर जमालपुर से कांग्रेस उम्मीदवार अजय सिंह के पास 27.75 एकड़ जमीन है। तीसरे नंबर पर मोकामा से जेडीयू के प्रत्याशी राजीव लोचन नारायण सिंह के पास 22.5 एकड़ जमीन है।

वहीं इन 42 प्रत्याशियों में से दो प्रत्याशी ऐसे भी हैं, जो किसान तो हैं, लेकिन इनके पास खेत नहीं है। चकाई से भारतीय लोकमत राष्ट्रवादी पार्टी के मो. तबरेज अंसारी और बाढ़ से रालोसपा के उम्मीदवार राकेश सिंह के पास खेती के अलावा इनकी अचल संपत्ति भी शून्य है। बिहार के तीन अमीर किसान नेताओं की बात की जाए, तो सबसे पहले नाम आता है जेडीयू के मोकामा प्रत्याशी राजीव लोचन का, इनके पास कुल संपत्ति करीब 9 करोड़ की है।

Gyan Dairy

वहीं दूसरे नंबर पर रालोसपा के अतरी से प्रत्याशी अजय कुमार सिन्हा, जिनकी कुल संपत्ति 6 करोड़ 75 लाख है। वहीं औरंगाबाद से भाजपा प्रत्याशी रामाधार सिंह के पास कुल संपत्ति 4 करोड़ 89 लाख है।

Share