बिहार: पुराने साथी नीतीश के साथ आ सकते हैं शरद यादव, जानें वजह

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बजने वाला है। ऐसे में नेताओं का दलबदल कार्यक्रम शुरू हो गया है। अब चर्चा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पुराने साथी शरद यादव फिर से जेडीयू में वापसी कर सकते हैं।

इसके लिए जेडीयू के बड़े नेता शरद यादव के सम्पर्क में हैं। जे़डीयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव रंजन ने इशारों में कहा कि शरद यादव समाजवादी आंदोलन के बड़े नेता हैं। जेडीयू में उनका सब लोग सम्मान करते हैं।

प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि महागठबंधन में शरद यादव का दम घुटता है। ऐसे में वह कोई भी बड़ा फैसला ले सकते हैं। शरद यादव महागठबंधन में हैं लेकिन लालू यादव की पार्टी आरजेडी उन्हें खास तवज्जों नहीं दे रही है। ऐसे में शरद यादव के जेडीयू में वापसी की संभावना बढ़ गई हैं।

Gyan Dairy

बता दें कि साल 2018 में नीतीश कुमार के साथ राजनैतिक मनमुटाव के चलते शरद यादव ने पार्टी से अपना रुख कर लिया था और लोकतांत्रिक जनता दल नाम से अपनी एक अलग पार्टी बना ली थी। शरद यादव के साथ अली अनवर और कई बड़े नेताओं ने पार्टी छोड़ दी थी।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शरद यादव की तबीयत का हालचाल पूछने के लिए जे़डीयू पार्टी के कई बड़े नेताओं ने उनसे संपर्क किया है। इसी दौरान पार्टी के नेताओं ने उनसे पार्टी में वापसी की बात की है।

Share