बिहार: तेजस्वी यादव को चुना गया नेता प्रतिपक्ष, कहा, राजद बनेगी सबसे बड़ी पार्टी

पटना। बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन को बहुमत नहीं मिला। एनडीए बिहार में फिर से सरकार बनाने जा रही है। वहीं, इस महागठबंधन अपने हार को लेकर आत्ममंथन शुरू कर दिया है। गुरुवार को पटना में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर महागठबंधन के नेताओं का जमावड़ा लगा। इस दौरान सभी दलों के नेता बैठक में पहुंचे। महागठबंधन की बैठक में राजद नेता तेजस्वी यादव ने सभी नेताओं को संबोधित भी किया। महागठबंधन की बैठक में तेजस्वी यादव को गठबंधन का नेता चुना गया है।

इस बैठक में राजद नेताओं के साथ-साथ पार्टी के राज्यसभा सांसद अखिलेश सिंह, बिहार प्रभारी सचिव विरेंद्र सिंह राठौर भी शामिल रहे। इससे पहले कांग्रेस के नवनिर्वाचित विधायकों की पटना स्थित पार्टी मुख्यालय सदाकत आश्रम में भी बैठक भी हुई। बैठक में नवनिर्वाचित विधायकों ने एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई दी।

इस मौके पर पार्टी के वरीय नेताओं ने नवनिर्वाचित विधायकों के साथ मंत्रणा की। बैठक के दौरान नेताओं के चेहरे पर कम सीटों के कारण सरकार नहीं बना पाने का मलाल साफ तौर पर दिख रहा था। तेजस्वी यादव बोले कि देश का युवा, किसान, मजदूरों में आक्रोश है। चुनाव में पीएम मोदी, बिहार के सीएम और कई लोग एक तरफ रहे लेकिन 31 साल के युवा को रोकने में असफल रहे। ये लोग राजद को सबसे बड़ी पार्टी होने से कोई रोक नहीं पाया। तेजस्वी यादव ने कहा कि आज नीतीश कुमार तीसरे नंबर पर आ गए हैं, बिहार के लोगों ने जो जनादेश दिया वो बदलाव का है।

Gyan Dairy

 

Share