हरियाणा की बीजेपी-जेजेपी सरकार ने हाशिल किया विश्वासमत, बनी रहेगी खट्टर की कुर्सी

चंडीगढ़। हरियाणा में लगातार ऐसी खबरे आ रहीं थी कि सरकार अल्पमत में आ गयी है जल्द ही गिर सकती है. विधानसभा में बीजेपी-जेजेपी गठबंधन सरकार के खिलाफ कांग्रेस बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव भी लाई थी. लेकिन वोटिंग के बाद हरियाणा की खट्टर सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया है, यानी सरकार बनी रहेगी. किसान आंदोलन को लेकर जेजेपी विधायकों पर इस अविश्वास प्रस्ताव को समर्थन देने का दबाव भी बन रहा था. ऐसे में सरकार के लिए मुश्किल पैदा होने के चांस थे. बीजेपी-जेजेपी गठबंधन सरकार को विश्वास मत के लिए 45 वोटों की जरूरत थी, उसके पक्ष में 55 वोट पड़े.

सीएम खट्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पंजाब के विधायकों का हंगामा
विश्वास मत जीतने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पंजाब के अकाली दल विधायकों ने हंगामा किया. केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ काले झंडे लेकर सीएम का विरोध करने के लिए अकाली नेता बिक्रम सिंह मजीठिया की अगुवाई में अकाली दल के विधायक पहुंचे. हरियाणा सीएम सिक्योरिटी के कमांडोज और हरियाणा पुलिस के जवानों ने मुश्किल से अकाली विधायकों को पीछे खदेड़ा.

Gyan Dairy

भुपेंद्र सिंह हुड्डा बोले – सीक्रेट वोटिंग होती तो नतीजा दूसरा होता
हरियाणा विधानसभा में नेता विपक्ष भुपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि व्हिप जारी होने की वजह से सरकार को बहुमत मिला. मैंने स्पीकर से सीक्रेट वोटिंग की मांग की थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ. अगर सीक्रेट वोटिंग होती तो नतीजे अलग होते. फिर भी हमारा नंबर 30 से 32 हो गया.

Share