लॉकडाउन में ससुराल वालों ने दिया आसरा तो साली को भगा ले गया जीजा

कहते हैं कि किसी के मुसीबत के समय अगर आप उसका सहारा बनो तो वो शख्स आपके प्रति वफादार रहता है लेकिन मध्यप्रदेश में कुछ अलग ही देखने को मिला. कोरोना महामारी के समय हुए लॉकडाउन में रिश्तोंं को और अपनों को जहां भरपूर वक्त देने का मौका लोगों को मिला वहीं कुछ रिश्ते भी लॉकडाउन की फुर्सत में बिगड़ गए. मध्‍य प्रदेश के विदिशा जिले में ससुराल में घर जमाई बनकर रह रहा दामाद, साली को लेकर ही भाग निकला.

नटेरन के पमारिया गांव में लॉकडाउन में कामकाज बंद होने के कारण दामाद 2 महीने तक घर जमाई बनकर ससुराल में रहा. इस बीच 17 साल की साली और उसके बीच प्रेम संबंध बन गए. दोनों की नज़दीकियां देख पत्नी और सास को शक हुआ लेकिन दामाद ने यह कहकर उन्हें चुप करा दिया कि वह उसकी छोटी बहन के जैसी है. यही दामाद 7 दिन पहले साली को ले भागा. 3 दिन पहले पुलिस उसे बरामद कर लाई.शुक्रवार को साली ने अपने घर पर जहरीला पदार्थ खा लिया जिससे उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती किया गया. खास बात यह है कि इस दौरान उसकी बड़ी बहन भी इलाज कराने उसके साथ आई.

Gyan Dairy

 

Share