सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत पहुंचे चमोली के तपोवन क्षेत्र, कहा-नदी के बहाव में आई कमी

चमोली। उत्तराखंड जिले की ऋषिगंगा घाटी में ग्लेशियर टूटने के बाद बड़ी तबाही की आशंका है। अलकनंदा और इसकी सहायक नदियों में बाढ़ आ गयी है। वहीं, राहत और बचाव का काम शुरू कर दिया है। एनडीआरफ की टीम बचाव में जुट गयी है। बताया जा रहा है कि अभी तक 10 शवों को बरामद कर लिया गया है।

वहीं, इस बीच मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत चमोली के तपोवन क्षेत्र के रैणी गांव के पास पहुंचे। वे स्थिति का जायजा ले रहे हैं। हालांकि, इस बीच एक राहत की खबर आ रही है। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि नदी के बहाव में कमी आई है, जो राहत और बात है और हालात पर लगातर नजर रखी जा रही है।

उन्होंने बताया कि अलकनंदा का जलस्तर सामान्य से 1 मीटर ऊपर है, लेकिन प्रवाह धीरे-धीरे कम हो रहा है। सीएम ने ट्वीट किया, ”राहत की खबर ये है कि नंदप्रयाग से आगे अलकनंदा नदी का बहाव सामान्य हो गया है।

Gyan Dairy

नदी का जलस्तर सामान्य से अब एक मीटर ऊपर है लेकिन बहाव कम होता जा रहा है। राज्य के मुख्य सचिव, आपदा सचिव, पुलिस अधिकारी और मेरी पूरी टीम आपदा कंट्रोल रूम से स्थिति पर लगातार नज़र रख रही है।”

 

Share