राजस्थान में खौफनाक वारदात, सैलरी मांगने पर सेल्समैन को जिंदा जलाया

जयपुर: राजस्थान के अलवर जिले में कुछ दिनो पहले ही करौली में एक पुजारी को भू माफियाओं ने पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी। अब एक व्यक्ति को महज इसलिए ज़िंदा जला दिया गया क्योंकि उसने अपने मालिक से सैलेरी मांगने की गुस्ताखी कर दी थी। आरोप है कि शराब के ठेकेदार ने उस पर अल्कोहाल छिड़कर कर जला दिया और बाद में उसे डीप फ्रीजर में भी डाल दिया। इस घटना की सामने आई तस्वीरे बहुत ही डरावनी और इन्सानियत को शर्मसार करने वाली हैं।

शराब की दूकान में रखे जिस बड़े डीप फ्रीज़र में बियर की बोतलों को ठंडा किया जाना चाहिए था उसमे एक शक्श की जली हुई लाश के खबर होने की बात जब लोगों तक पहुंची तो सभी भौचक्के रह गए।

यह घटना अजीस शराब की दूकान में हुई। उसका ठेकेदार सुभाष और राकेश यादव फरार हैं। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है और एफएसएल टीम बुलाकर जांच कराई जा रही है। परिजनों द्वारा दर्ज शिकायत में बताया गया है कि पिछले कुछ महीनों से मृतक को सैलेरी नहीं दी जा रही थी और जब वह मांगने लगा तो ठेकेदार अक्सर उस पर अपना गुस्सा निकालते थे।

खैरथल के थानाधिकारी धारा सिंह का कहना है कि हमें सूचना मिली थी की गांग के इस ठेके में सेल्समैन अन्दर ही जलकर मारा है। मृतक का नाम कमल किशोर है. उसके भाई ने शिकायत दी है की उसकी ह्त्या की गयी है। हमने रिपोर्ट दर्ज कर पोस्टमार्टम करवा दिया है। ह्त्या के कारणों की जांच जारी है।

पुलिस ने जांच के बाद बताया कि अलवर जिले के खैरथल थानां के गांव कुमपुर में ठेके में कुछ लोगों ने शराब की दूकान से आग का काला गुब्बार निकलते देखा। तत्काल दूकान का शटर तोडा गया और अन्दर जाने पर वहां डीप फ्रीजर में एक शक्श जली हुवी हालत में पड़ा था। परिजनों ने आग लगाकर जलाकर मारने का आरोप लगाया है। पुलिस की माने तो मृतक कमल की उम्र 22 साल थी और उसकी पहचान कमल किशोर के रूप में हुई है जो की इसी इलाके के झाड़का गांव का रहने वाला था और इसी शराब की दूकान पर सेल्समैन का काम भी करता था।

Gyan Dairy

परिवार वालों की माने तो 24 अक्टूबर 2020 को शाम करीब 4 बजे उसे ठेकेदार सुभाष यादव एवं ठेकेदार राकेश यादव उसके घर से बुलाकर ले गए। उसका भाई पूरी रात घर नहीं आया। अगले दिन सुबह उन्हें पता चला कि कुमपुर स्थित उस शराब की दुकान पर आग लग गई है। शराब की दुकान पर पहुंचे तो दुकान भी जलकर राख हो चुकी थी और दूकान का शटर बंद था। लोगों के सामने शटर खोला गया तो अंदर का नज़ारा वहां मौजूद सभी लोगों के रोंगटे खड़े करके दिल दहला देने के लिए काफी था। दूकान में काम करने वाला कमल किशोर दुकान के अंदर जलकर भस्म हो चुका था। परिजनों ने आरोप लगाया है कि ठेके के पीछे की ओर छेद से पेट्रोल या अल्कोहल छिड़क कर आग लगाई गई है।

आग फैलने के बाद उसका भाई जान बचाने के लिए डीप फ्रिज में गया जहां उसकी जिन्दा जलने से मौत हो गई। घटना के सामने आने के बाद पहले तो जब तक इस घटना के आरोपियों को गिरफ्तार करके उन्हें कड़ी सजा नहीं दी जाती तब तक परिजनों ने मृतक का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया। हालांकि बाद में पलिस ने परिजनों को समझाबुझा कर मृतक का पोस्टमार्टम करा परिजनों को शव सौंप दिया।

मृतक कमल किशोर के बड़े भाई रमेश का कहना है कि उसका भाई शाम को 4 बजे तक घर पर ही था, ठेकेदार घर आये तो उसके साथ लेकर गए। सुबह पता चला की उसके ठेके में आग लग गयी है। यहां का नजरा सब बता रहा है कि कितनी दर्दनाक तरीके से उसके मारा गया होगा। पेट्रोल डालकर उसे आग लगा दी गयी है। हमें न्याय चाहिए, ठेकेदार काफी प्रभावशाली है इसलिए जांच तेजी से नहीं हो पा रही है।

फिलहाल इस घटना के बाद जहां पुलिस ने मामले की तफ्तीश शुरू कर दी है वहीं लोगों में भी जबर्दस्त आक्रोश फैला हुआ है। हालांकि इस घटना के बाद दूकान के दोनों मालिकों का अचानक इस तरह से लापता हो जाना अब भी इस मामले में बड़ा रहस्य बना हुआ है।

Share